हेलसिंकी, एएनआइ। पाकिस्तान UNHRC में कश्मीर मुद्दे पर हारने के बाद UNGA में इसे फिर उठाने की कोशिश करने वाला है। पाकिस्तान सरकार और पीएम इमरान खान ने कहा है कि वो कश्मीर मुद्दे को UNGA में उठाने वाले हैं। इस बीच भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने एकबार फिर पाकिस्तान को कश्मीर पर करारा तमाचा जड़ा है।जयशंकर ने जम्मू कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के भारत के फैसलो को भारत की राष्ट्रीय सुरक्षा का मामला बताया है। एस जयशंकर ने कहा है कि भारत, एक ऐसे पड़ोसी(पाकिस्तान) के साथ रहता है जो उसकी राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए बड़ा खतरा है। भारत ने इन्हीं चुनौतियों को देखते हुए कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाया है।

नहीं रुक रही ना'पाक' हरकतें

एस जयशंकर ने फिनलैंड में फिनिश इंस्टीट्यूट ऑफ इंटरनेशनल अफेयर्स (एफआईआईए) को संबोधित करते हुए पाकिस्तान पर निशाना साझते हुए कहा कि कई दशकों से भारत की राष्ट्रीय सुरक्षा की सबसे प्रमुख चुनौती सीमापार से आतंकवाद है, जिसमें कुछ समय में बहुत तेजी आई है। पिछले 30 दशकों में 40,000 से अधिक लोगों ने इन घटनाओं में अपनी जान गंवाई है।

आतंकवाद के खिलाफ नीति जरूरी

जयशंकर ने आगे कहा कि हम आतंकवाद का हर तरीके से विरोध करते हैं और ये भी मानते हैं कि इसे खत्म किया जाना चाहिए, चाहे जैसे भी हो।  लेकिन जब हमारे ऐसे देशों को आतंकवादी हमलो का सामना करना पड़ा है तो हम भी चुप नहीं रह सकते। हम भी आतंकवाद को मुंहतोड़ जवाब देते हैं।

PoK पर पाकिस्तान को चेतावनी

बता दें, इससे पहले विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा था कि पीओके भारत का हिस्सा है और हमें एक दिन इसे अपने अधिकार क्षेत्र में लेने की उम्मीद है। जयशंकर ने कहा, 'पीओके पर हमारा रुख बहुत साफ रहा है, बहुत साफ है और रहेगा कि यह भारत का हिस्सा है तथा हम एक दिन इसे अपने अधिकार क्षेत्र में लेने की उम्मीद करते हैं।'

जयशंकर के बयान पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए पाकिस्तान ने मंगलवार को कहा कि वह अंतरराष्ट्रीय समुदाय से अनुरोध करता है कि पीओके पर भारत के आक्रामक रुख का गंभीरता से संज्ञान लें।

इसे भी पढ़ें: विदेश मंत्री का बड़ा बयान- PoK है भारत का हिस्‍सा और एक दिन इसे लेकर रहेंगे

Posted By: Shashank Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप