संयुक्त राष्ट्र, रायटर। रूस ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में शुक्रवार को सीरिया के विरुद्ध लाए गए रासायनिक हमले की जांच संबधी प्रस्ताव को 24 घंटे में दूसरी बार वीटो कर दिया।

जापान के प्रस्ताव को रूस ने दोषपूर्ण करार दिया। रूस के वीटो करते ही प्रस्ताव खारिज हो गया। एक महीने के भीतर रूस का यह तीसरा वीटो है। गुरुवार को भी रूस ने सीरिया के खिलाफ आए अमेरिकी प्रस्ताव को वीटो किया था।

संयुक्त राष्ट्र और रासायनिक हथियार निषेध संगठन (ओपीसीडब्ल्यू) ने संयुक्त जांच में पाया था कि सीरिया की बशर अल असद सरकार ने अपने विरोधी संगठनों के खिलाफ कई बार रासायनिक हथियारों का इस्तेमाल किया है। इनमें सैकड़ों लोगों की जान चली गई थी। 15 सदस्यीय यूएन सुरक्षा परिषद में जापानी प्रस्ताव के पक्ष में 12 मत पड़े जबकि रूस सहित बोलीविया ने विपक्ष में वोट डाला। चीन मतदान से अलग रहा।

2011 के बाद से ही सीरिया के राष्ट्रपति बशर अल असद पर विद्रोहियों के खिलाफ रासायनिक हमले करने के आरोप लगते रहे हैं। गौरतलब है कि रूस का असद सरकार तो सरकार के खिलाफ लड़ रहे विद्रोहियों को अमेरिका का समर्थन रहा है।

यह भी पढ़ें: सीरिया में रासायनिक हमले की जांच पर रूस ने दसवीं बार किया वीटो

Posted By: Manish Negi