कीव, रायटर। हफ्तों की लड़ाई के बाद रूस ने कहा है कि उसकी सेना ने पूर्वी यूक्रेन के लुहांस्क प्रांत पर कब्जा कर लिया है। रूसी रक्षा मंत्री सर्गेई शोइगू ने रविवार को क्रेमलिन जाकर राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को लिसिचांस्क शहर जीतकर लुहांस्क को आजाद कराए जाने की सूचना दी। यह लुहांस्क प्रांत का आखिरी शहर था जिस पर कब्जे के लिए लड़ाई चल रही थी। रूस के इस दावे पर अभी तक यूक्रेन की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। 24 फरवरी से शुरू हुए युद्ध में राजधानी कीव पर कब्जा करने में विफल रही रूसी सेना ने मार्च में पूर्वी यूक्रेन पर हमले केंद्रित कर दिए थे। वैसे डोनबास के अंतर्गत आने वाले लुहांस्क और डोनेस्क प्रांतों में रूस समर्थित विद्रोहियों के हमले 24 फरवरी से ही जारी थे। करीब तीन महीने की भीषण लड़ाई के बाद लुहांस्क प्रांत रूसी सेना के हाथ आ गया है जबकि डोनेस्क का बड़ा हिस्सा भी रूस ने जीत लिया है।

इससे पहले शनिवार को रूस ने कहा था कि लिसिचांस्क को घेर लिया गया है और वहां पर अंतिम दौर की लड़ाई चल रही है। वाशिंगटन स्थित थिंक टैंक इंस्टीट्यूट फार द स्टडी आफ वार ने लिसिचांस्क से यूक्रेनी सैनिकों के मैदान छोड़ने के सिलसिले को देखते हुए आसार जताए थे कि वहां पर दो जुलाई तक रूसी सेना का कब्जा हो सकता है। थिंक टैंक ने युद्ध क्षेत्र के वीडियो फुटेज देखने के बाद यह आसार जताया था। इस बीच खार्कीव में भी रूसी हमला होने की खबर है।

रूसी शहर पर गोलाबारी, तीन मरे

रूस ने रविवार को अपनी सीमा में स्थित बेलगोरोद शहर पर यूक्रेन की गोलाबारी का आरोप लगाया। कहा कि इस हमले में तीन लोग मारे गए हैं और एक मकान नष्ट हो गया है। यह शहर रूस-यूक्रेन सीमा से करीब 40 किलोमीटर भीतर है। रूसी क्षेत्र के गवर्नर व्याचेस्लाव ग्लादकोव ने कहा है कि यूक्रेन की गोलाबारी से पांच मकान नष्ट हो गए हैं जबकि 11 अन्य भवनों को नुकसान पहुंचा है। बेलगोरोद शहर पर हमले के आरोप यूक्रेन पर पहले भी लगते रहे हैं। रूस के कब्जे में गए यूक्रेनी शहर मेलिटोपोल को फिर से पाने के प्रयास में यूक्रेनी सेना ने वहां स्थित रूसी सैन्य अड्डे पर बीते 24 घंटों में 30 से ज्यादा हमले किए हैं।

लिसीचांस्क पर मायखाइलो पोडोलीक ने की थी हमले की पुष्टि

अभी कुछ दिन पहले यूक्रेन के राष्ट्रपति के सलाहकार मायखाइलो पोडोलीक ने ट्विटर पर कहा, "रूस अभी भी यूक्रेन को डराने, दहशत फैलाने और लोगों को डराने की कोशिश कर रहा है।" लुहान्स्क क्षेत्र के गवर्नर सेरही गदाई ने कहा कि रूसी सेना ने सिविएरोडोनेट्सक के औद्योगिक क्षेत्र पर हमला किया और शनिवार को लिसिचांस्क में प्रवेश करने और नाकाबंदी करने का भी प्रयास किया। 

रूस ने 24 फरवरी को यूक्रेन पर हमला किया, जिसे रूस ने "विशेष सैन्य अभियान" कहा गया, लेकिन पश्चिमी हथियारों की मदद से यूक्रेनी लड़ाकों द्वारा भयंकर प्रतिरोध का सामना करने के लिए राजधानी कीव पर एक प्रारंभिक अग्रिम को छोड़ दिया। तब से मॉस्को और उसके सहयोगियों ने दक्षिण और डोनबास पर ध्यान केंद्रित किया है, जो लुहान्स्क और उसके पड़ोसी डोनेट्स्क से बना एक पूर्वी क्षेत्र है, जो भारी तोपखाने की तैनाती करता है।

Edited By: Shashank Shekhar Mishra