कीव, रायटर। मारीपोल की अजोवस्टाल स्टील फैक्ट्री में फंसे करीब 600 घायल यूक्रेनी सैनिकों और विदेशी लड़ाकों की निकासी के लिए यूक्रेन और रूस के बीच बहुत जटिल वार्ता चल रही है। इस वार्ता में बदले में रूसी युद्धबंदियों को रिहा करने का प्रस्ताव रखा गया है। यह बात यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने कही है। समय बीतने के साथ ही रूसी सेना से घिरे इन घायलों की दशा बिगड़ती जा रही है।

फैक्ट्री में मौजूद अफसर ने कहा, आखिरी सांस तक लड़ेंगे

मारीपोल की अजोवस्टाल स्टील फैक्ट्री के भीतर से लड़ रहे यूक्रेनी सैनिकों के डिप्टी कमांडर स्वीआतोस्लाव पाल्मर ने कहा है कि गोला-बारूद, खाद्य पदार्थो, पानी और दवाओं की कमी के बावजूद रूसी सेना से लड़ाई जारी रहेगी। यह लड़ाई यूक्रेनी सैनिकों की आखिरी सांस तक चलेगी। इंटरनेट मीडिया के जरिये अमेरिकी जनरलों से वार्ता में पाल्मर ने करीब 600 घायल सैनिकों को फैक्ट्री से निकालने के लिए अमेरिका से मदद का अनुरोध किया।

यूक्रेनी सेना ने अपने दैनिक बयान में कहा है कि पूर्वी भूभाग में स्थित डोनेस्क और लुहांस्क (डोनबास) इलाकों में रूसी सेना नए कस्बों और गांवों पर हमले कर रही है। सभी स्थानों पर उसका यूक्रेनी सैनिकों और क्षेत्रीय लोग कड़ा मुकाबला कर रहे हैं। डोनबास क्षेत्र के अविदिव्का शहर में हुए रूसी हमले में 12 लोग घायल हुए हैं।

दो दिन में 73 रूसी टैंक बर्बाद करने का दावा

यूक्रेन की एयरबोर्न कमांड ने फोटो और वीडियो जारी करते हुए बताया है कि सिवरस्की डोनेट्स नदी पर बने पैंटून ब्रिज को उड़ाकर रूसी सेना को बड़ा नुकसान पहुंचाया गया है। इस सप्ताह के दो दिनों में रूसी सेना के 73 टैंक और अन्य सैन्य वाहन व उपकरण नष्ट किए गए हैं। जबकि ब्रिटिश रक्षा मंत्रालय ने कहा है कि रूसी सेना के एक हजार जवानों का दस्ता इस हमले की चपेट में आया है। रूसी टैक्टिकल ग्रुप की एक बटालियन में एक हजार सैनिक होते हैं। पैंटून ब्रिज के जरिये पूरी बटालियन नदी पार कर रही थी, तभी पुल उड़ाया गया।

युद्ध अपराध के 41 मामले सुनवाई के लिए तैयार

यूक्रेन की प्रोसीक्यूटर जनरल ने कहा है कि उनके कार्यालय में रूसी सैनिकों द्वारा किए गए 41 युद्ध अपराधों के मामले सुनवाई के लिए तैयार हैं। लेकिन यह स्पष्ट नहीं किया गया है कि कितने मामलों में दोषियों की अनुपस्थिति में सुनवाई होगी। उल्लेखनीय है कि 62 वर्षीय साइकिल सवार की अकारण गोली मारकर हत्या के मामले में पकड़े गए एक रूसी सैनिक के खिलाफ युद्ध अपराध का मामला इसी सप्ताह शुरू हुआ है।

जब तक सहयोगी साथ देंगे, तब तक लड़ेगा यूक्रेन : जेलेंस्की

यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने कहा है कि युद्ध के साथ जारी युद्ध की समयसीमा के बारे में कोई अनुमान नहीं लगा सकता है। युद्ध का समय काफी हद तक यूक्रेन के सहयोगी, यूरोपीय देश और बाकी के स्वतंत्र देश तय करेगें। वे जब तक यूक्रेन का साथ देंगे, यूक्रेन तब तक लड़ाई लड़ेगा। जेलेंस्की ने रूस पर प्रतिबंध लगाने, उन्हें मजबूती से लागू करने और यूक्रेन को सैन्य व आर्थिक मदद देने वाले देशों का शुक्रिया अदा किया।

जेलेंस्की ने कहा, शुक्रवार को रूस का 200 वां लड़ाकू विमान मार गिराया गया है। इसके अतिरिक्त बड़ी संख्या में रूसी टैंक, तोपें और बख्तरबंद वाहन नष्ट किए गए हैं। रूस को यूक्रेन युद्ध में भारी नुकसान उठाना पड़ा है। इस सबके बाद रूस सिर्फ गेनीचेस्क में अस्थायी रूप से लेनिन की मूर्ति लगा पाया। गेनीचेस्क खेरसान क्षेत्र का एक कस्बा है, जहां पर कब्जा करने के बाद रूसी सेना ने अप्रैल में लेनिन की मूर्ति लगाई है।

Edited By: Arun Kumar Singh