एलमाउ, एपी। आर्थिक तौर पर दुनिया के सबसे संपन्न देशों के समूह जी -7 के नेताओं ने रूस के आक्रमण के विरुद्ध यूक्रेन के समर्थन और मदद का वादा किया है। साथ ही यूक्रेन पर हमले को लेकर रूस को आर्थिक रूप से चोट पहुंचाने पर भी एकमत हुए हैं। इन नेताओं ने कहा कि यूक्रेन का समर्थन करने के लिए एकजुट रुख अपनाया गया है। वे युद्ध को वित्त पोषित करने वाले तेल की बिक्री से रूस की आय को सीमित करने के लिए दूरगामी कदमों की तलाश करेंगे। जर्मनी में जी-7 देशों के शिखर सम्मेलन के बाद मंगलवार को बयान जारी किया गया। इसमें रूस को गंभीर और तत्काल आर्थिक चोट पहुंचाने की बात कही गई है।

समूह के सदस्य देश रूसी तेल के आयात को रोकने के उपायों की तलाश करने के लिए आने वाले हफ्तों में और अधिक चर्चा करेंगे। इससे रूसी आय का एक प्रमुख स्रोत प्रभावित होगा और वैश्विक अर्थव्यवस्था को प्रभावित कर रही ऊर्जा की कीमतों से राहत मिलेगी। नेताओं ने रूसी सोने के आयात पर प्रतिबंध लगाने और उन देशों को मदद देने पर सहमति जताई, जो काला सागर के रास्ते यूक्रेनी अनाज का परिवहन रुकने से प्रभावित हैं। अमेरिका, जर्मनी, फ्रांस, इटली, ब्रिटेन, कनाडा और जापान के नेताओं ने यूक्रेनी राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये बातचीत के बाद समर्थन का वादा किया।

फ्रांस के राष्ट्रपति मैक्रों ने कहा यूक्रेन युद्ध नहीं जीत सकता रूस 

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने मंगलवार को कहा कि यूक्रेन में युद्ध रूस जीत नहीं सकता है। जी -7 देशों की बैठक के बाद उन्होंने कहा कि समूह के देश जब तक आवश्यक होगा तब तक रूस के खिलाफ प्रतिबंधों को बनाए रखेंगे।

बाइडन की पत्नी और बेटी के रूस में प्रवेश पर लगा प्रतिबंध

बाइडन की पत्नी, बेटी पर रूस में प्रवेश पर प्रतिबंधरूस ने अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन की पत्नी और बेटी के देश में प्रवेश करने पर प्रतिबंध लगा दिया है। विदेश मंत्रालय ने रूस में प्रवेश करने से प्रतिबंधित किए गए जिन 25 लोगों के नामों की सूची जारी की, उसमें बाइडन की पत्नी जिल और बेटी एश्ले के नाम भी हैं।

यूक्रेन के साथ खड़ा है नाटो (नार्थ अटलांटिक ट्रीटी आर्गेनाइजेशन) के महासचिव जेंस स्टोल्टेनबर्ग ने कहा कि गठबंधन यूक्रेन के साथ खड़ा है और इसके लिए अपने समर्थन को बढ़ाता रहेगा। उन्होंने बताया कि रूसी खतरे के मद्देनजर तीन लाख सैनिकों को हाई अलर्ट पर रखने को लेकर मैड्रिड सम्मेलन में सहमति बनने की संभावना है।

ब्रिटेन ने कहा रूस, यूरोपीय सुरक्षा के लिए खतरा 

ब्रिटेन के सेना प्रमुख पैट्रिक सैंडर्स ने कहा कि यूरोपीय सुरक्षा के लिए रूस बड़ा खतरा बन सकता है। यूक्रेन पर हमले के बाद यह खतरा और बढ़ गया है। उन्होंने इस तरह के खतरे से निपटने के लिए सेना को तैयार रहने को कहा है।

Edited By: Shashank Shekhar Mishra