कीव, रायटर: रोमानिया की राजधानी बुखारेस्ट में नाटो के सदस्य देशों के विदेश मंत्रियों की चल रही बैठक के बीच रूस ने यूक्रेन पर हमला तेज कर दिया है। इस बैठक में यूक्रेन के लिए सहायता बढ़ाए को लेकर निर्णय लिए जाने की संभावना है। यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्की ने कहा कि देश में रूसी बल उत्तर-पूर्व और पूर्व की ओर से बढ़ने का प्रयास कर रहे हैं। वे दक्षिण यूक्रेन में भी कुछ करने की योजना बना रहे हैं। उन्होंने नाटो से और हवाई रक्षा प्रणालियों की मांग की है।

यह भी पढ़े: क्रिप्टो बैंक ब्लॉकफी ने बैंकरप्सी के लिए आवेदन किया, FTX को बताया वजह, बिटफ्रंट एक्सचेंज भी बंद

एक लाख से ज्यादा रूसी सैनिकों के मारे जाने का अनुमान

यूक्रेनी जनरल स्टाफ ने बताया कि पूर्वी डोनबास क्षेत्र में सुरक्षा बलों ने पिछले 24 घंटे के दौरान छह रूसी हमलों को नाकाम कर दिया। दक्षिण में खेरसान शहर पर रूसी बलों ने गोले बरसाए। जबकि जेलेंस्की ने एक वीडियो संदेश में कहा कि सर्दी के चलते युद्ध में परेशानी आ रही है। रूसी बल पूर्व में डोनबास क्षेत्र में हमला कर रहे हैं। उत्तर-पूर्व में खार्कीव को भी निशाना बना रहे हैं। इन जगहों से यूक्रेन ने रूसी बलों को गत सितंबर में पीछे धकेल दिया था। उन्होंने साल के अंत तक युद्ध में एक लाख से ज्यादा रूसी सैनिकों के मारे जाने का अनुमान लगाया है।

बुखारेस्ट में नाटो की दो दिवसीय बैठक

इधर, बुखारेस्ट में नाटो (नार्थ अटलांटिक ट्रीटी आर्गनाइजेशन) की दो दिवसीय बैठक चल रही है। इसमें अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन समेत नाटो सदस्य देशों के विदेश मंत्री हिस्सा ले रहे हैं। यह माना जा रहा है कि यूक्रेन के लिए वायु रक्षा प्रणाली और गोला-बारूद जैसी सैन्य सहायता बढ़ाने पर निर्णय हो सकता है। नाटो के महासचिव जेंस स्टोल्टेनबर्ग ने मंगलवार कहा था कि यह सैन्य संगठन यूक्रेन की मदद बढ़ाने की दिशा में कदम उठाएगा। क्योंकि रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन सर्दी के मौसम का उपयोग युद्ध के हथियार के तौर पर कर रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा था कि माल्डोवा, जार्जिया और बोस्निया को रूस के दबाव का सामना करना पड़ रहा है।

ट्रिब्यूनल बनाने और रूसी संपत्तियों को जब्त करने की तैयारी

यूरोपीय यूनियन (ईयू) संयुक्त राष्ट्र के समर्थन से यूक्रेन में रूस के युद्ध अपराधों की जांच और मुकदमे चलाने के लिए विशेष ट्रिब्यूनल बनाने के प्रयास में है। ईयू अध्यक्ष उर्सुला वान डेर लेन ने बुधवार को कहा, 'हम इस विशेष कोर्ट के लिए अंतरराष्ट्रीय समुदाय के साथ मिलकर काम करने के लिए तैयार हैं।' यूक्रेन युद्ध अपराधों को लेकर रूसी सेना और नेताओं पर मुकदमे चलाने के लिए विशेष ट्रिब्यूनल की मांग कर रहा है। ईयू रूसी संपत्तियों को जब्त करने की योजना पर भी काम कर रहा है।

यह भी पढ़े: Fact Check: राहुल गांधी ने नहीं दिया महिलाओं को लेकर ये आपत्तिजनक बयान, आधी-अधूरी क्लिप वायरल

Edited By: Amit Singh

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट