कीव। रूस के सबसे सुरक्षित माने जाने वाले 2 हवाई ठिकानों (Air Base) पर यूक्रेन के ड्रोन विमान ने हमला किया। सोमवार को रूस ने बताया कि यूक्रेन के ड्रोन विमान के जरिए किए गए हमले में 3 लोगों की मौत हो गई है। यूक्रेन के ड्रोन ने रूस के दो हवाई अड्डों पर हमला किया। समाचार एजेंसी रॅायटर्स के मुताबिक, रक्षा मंत्रालय ने कहा कि दो विमान मामूली रूप से क्षतिग्रस्त हो गए हैं। वहीं, चार अन्य लोग घायल भी हुए हैं। इसमें कहा गया है कि चार अन्य लोग घायल हुए हैं। वहीं रूस के रक्षा मंत्रालय ने इस बात की जानकारी दी कि सोमवार को यूक्रेन के सैन्य और ऊर्जा ढांचे पर हमले किए गए।

बता दें कि यूक्रेन ने अभी तक आधिकारिक तौर पर रूस द्वारा किए गए विस्फोटों को लेकर कोई टिप्पणी नहीं की है। वहीं इसकी वायु सेना ने ट्वीट किया, "क्या हुआ?" और एक सैन्य वाहन के नीचे बर्फ पर खून दिखाते हुए कुछ फोटो शेयर की।

रिपोर्टों के अनुसार, यूक्रेनी हमलों में 3 रूसी सैनिकों की मौत हो गई, जबकि रियाज़ान और सेराटोव क्षेत्रों में हुए हमलों में 4 लोग घायल हो गए। रूस ने बाद में मिसाइलों की बौछार की जिसमें 4 लोग मारे गए। यूक्रेन के पूर्व और दक्षिण में भी बिजली ग्रिड में भारी व्यवधान की सूचना मिली थी।

अक तक क्या हुआ…?

  • सोमवार की जवाबी गोलीबारी ने यूक्रेनी क्षेत्रों में बुनियादी सेवाओं को ठप कर दिया। कीव ने कहा कि इसने अधिकांश मिसाइलों को मार गिराया है। वहीं, ज़ेलेंस्की ने कहा कि रूस की हर मिसाइल इस बात का ठोस सबूत है कि आतंक को हराया जा सकता है।
  • हाल ही हुए हमलों के कारण यूक्रेन में अंधेरा ही दिखाई दे रहा है और बिजली सुविधाओं पर भी हमले हुए हैं जिसके बाद आने वाले दिनों में कीव के आस-पास के लगभग आधे क्षेत्र में बिजली न रहने की आशंका है। कीव के क्षेत्रीय गवर्नर ने कहा, आने वाले दिनों में लगभग आधा क्षेत्र बिना बिजली के ही होगा।
  • दक्षिण में, ओडेसा क्षेत्र में सभी जल पम्पिंग स्टेशनों और रिजर्व लाइनों में बिजली चली गई और पानी की आपूर्ति भी काट दी गई।
  • यूक्रेन द्वारा लक्षित एंगेल्स बेस, सीमा से 600 किलोमीटर पूर्व में स्थित है और टीयू-95 और टीयू-160 परमाणु-सक्षम रणनीतिक बमवर्षक हैं जो कीव पर हमले शुरू करने में शामिल रहे हैं। डायगिलेवो हवाई ठिकाने में टैंकर विमान हैं जिनका उपयोग उड़ान में अन्य विमानों को ईंधन भरने के लिए किया जाता है और यह यूक्रेनी सीमा से लगभग 500 किलोमीटर उत्तर पूर्व में है।
  • रिपोर्टों में कहा गया है कि नवीनतम हमलों ने रूस के कुछ सबसे सामरिक सैन्य स्थलों की भेद्यता को दिखाया है, अगर ड्रोन उनके इतने करीब आ सकते हैं तो उनकी हवाई सुरक्षा की प्रभावशीलता पर सवाल उठा रहे हैं।

रूस के दो वायुसेना अड्डों में धमाके, तीन मरे

रूस में वायुसेना के दो अड्डों में तेज धमाके होने की खबर है। इन धमाकों में तीन लोग मारे गए हैं और कई घायल हुए हैं। जिन वायुसेना अड्डों में धमाके की आवाज सुनी गई उनमें से एक में परमाणु हथियार लेकर हमला करने में सक्षम बमवर्षक विमानों की तैनाती है। सरकारी समाचार एजेंसी आरआइए के अनुसार रियाजान स्थित अड्डे में हुए धमाके में छह लोग घायल हुए हैं। वहां पर एक तेल टैंकर में विस्फोट होने से हादसा हुआ। सारातोव क्षेत्र के गवर्नर रोमन बुसार्गिन ने कहा है कि आपातस्थिति नहीं है।

यह भी पढ़ें- Russia Ukraine War: यूक्रेन के ड्रोन ने रूस के दो Air Base पर किया हमला, 3 लोगों की मौत; 4 घायल

यह भी पढ़ें- Russia Ukraine War: यूक्रेन के ऊर्जा संयंत्रों पर फिर से रूस का हमला, दो लोगों की मौत, तीन घायल

Edited By: Versha Singh

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट