लिस्‍बन, एजेंसी। पूर्तगाल (Portugal) में इन दिनों एक गर्भवती भारतीय महिला पर्यटक की मौत का मुद्दा चर्चे में है। इसे लेकर इतना हंगामा मचा कि स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री मार्टा टेमिडो (Marta Temido) को मंगलवार अपने पद से इस्‍तीफा देना पड़ा। 

पूतर्गाल के सरकारी टीवी चैनल आरटीपी न्‍यूज की रिपोर्ट के मुताबिक, टेमिडो ने इस्‍तीफा देते वक्‍त बस इतना ही कहा कि अब इस पद पर बने रहने का कोई तुक नहीं बनता। उनके इस्‍तीफे को प्रधानमंत्री ने स्‍वीकार कर लिया है।

अस्‍पतालों के चक्‍कर काटते वक्‍त हुई मौत

मालूम हो कि लिस्‍बन (Lisbon) में अस्‍पतालों के चक्‍कर काटते वक्‍त महिला की मौत हुई है। महिला पूर्तगाल घूमने के लिए गई थी। उन्‍हें डिलीवरी के लिए पहले एक अस्‍पताल में ले जाया गया, जहां जगह न होने की वजह से उन्‍हें बेड नहीं मिल पाया।

यहां से उन्‍हें एक और अस्‍पताल में रेफर किया गया, लेकिन वहां के मेटरनिटी वार्ड (Maternity Ward) में भी महिला को कोई जगह नहीं मिली। महिला को एक अस्‍पताल से दूसरे में ले जाने के दौरान ही दिल का दौरा पड़ा, जिससे उनकी मौत हो गई।

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री की हुई कड़ी आलोचना

यह खबर आग की तरह पूरे शहर में फैल गई और स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री की कड़ी आलोचना होने लगी। पूर्तगाल की सरकार द्वारा प्रसूति यूनिट में से कुछ को बंद रखने के कारण महिला को एक से दूसरे अस्‍पताल जाना पड़ा, जिस दौरान उनकी मौत हुई। इस घटना के महज पांच घंटे बाद मार्टा ने अपना इस्‍तीफा सौंपा। 

बताया जा रहा है कि गर्भवती भारतीय महिला को पहले डी सांता मारिया हॉस्पिटल (De Santa Maria) ले जाया गया और वहां से उन्‍हें साओ फ्रांसिस्‍को जेवियर (Sao Francisco Xavier) में रेफर किया गया क्‍योंकि पहले वाले अस्‍पताल के शिशु देखभाल विभाग (Neonatal Intensive Care Unit ) में लोग कम थे।

अस्‍पताल ने दी सफाई 

इधर, साओ फ्रांसिस्‍को जेवियर हॉस्पिटल ने अपने बयान में कहा है कि महिला के यहां आते ही उनका तुरंत ऑपरेशन कराया गया। बच्‍चे का वजन 722 ग्राम था। प्रीमैच्‍योर (Premature) होने की वजह से बच्‍चे को शिशु देखभाल इकाई में भेज दिया गया।

इसके बाद महिला को गहन चिकित्‍सा विभाग (Intensive Care Unit) में भर्ती कराया गया और वहां उनकी मौत हो गई। अस्‍पताल ने मृतक के परिवार के प्रति अपनी संवेदना व्‍यक्‍त की है।

Edited By: Arijita Sen

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट