रोम, एजेंसियां। पोप फ्रांसिस ने समलैंगिक शादी का समर्थन किया है। यह पहली बार है जब किसी पोप ने समलैंगिक शादी की हिमायत की है। पोप ने यह टिप्पणी एक डॉक्यूमेंट्री में की है। 'फ्रांसिस्को' नामक इस डॉक्यूमेंट्री का प्रीमियर रोम फिल्म महोत्सव में किया गया। इसके लिए दिए गए साक्षात्कार में पोप कहते हैं, 'समलैंगिक लोगों को परिवार में रहने का अधिकार है। वे ईश्वर की संतान हैं और उन्हें भी परिवार बनाने का अधिकार है।'                                                                              

पोप ने समलैंगिक लोगों के लिए एक नागरिक कानून बनाने का भी समर्थन किया, ताकि उन्हें कानूनी सुरक्षा मिल सके। सीएनएन के मुताबिक फ्रांसिस पहले भी इस तरह के कानून का समर्थन कर चुके हैं। लेकिन पोप के रूप में पहली बार उन्होंने समलैंगिक लोगों को कानूनी सुरक्षा प्रदान करने की बात कही है।

इससे पहले मंगलवार को पोप फ्रांसिस पहली बार एक सार्वजनिक समारोह में मास्क पहने नजर आए। पोप और अन्य पादरी दुनिया में अमन चैन के लिए एक प्रार्थना सभा में शामिल हुए। अभी तक पोप लोगों को दर्शन देने के अपने साप्ताहिक कार्यक्रम में शामिल होने वेटिकन जाते समय सिर्फ कार में ही मास्क पहनते थे। लोगों को दर्शन देते समय वह मास्क नहीं पहनते थे। इसको लेकर उनकी कई बार आलोचना भी हुई, क्योंकि कभी-कभी लोग उनके बहुत करीब आ जाते थे।                                                                                                              

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021