मनीला, आइएएनएस। फिलीपींस (Phillipines) में ताल ज्‍वालामुखी (Taal Volcano) के संभावित विस्‍फोट (Eruption) को लेकर मंगलवार को यहां अलर्ट जारी कर दिया गया है। दरअसल, इस ज्‍वालामुखी से निरंतर लावा (Lava) और धुआं (Fumes) का निकलना जारी है। अलर्ट को देखते हुए यहां से 30,000 से अधिक लोगों को निकाल कर सुरक्षित स्‍थान पर पहुंचा दिया गया है। बता दें कि 12 जनवरी को फिलीपींस के ताल ज्वालामुखी में लावा उगलने की प्रक्रिया शुरू हुई थी। इसी दिन यहां रात में करीब 75 भूकंप के झटके दर्ज किए गए।

पिछले 24 घंटों में ज्‍वालामुखी से 500 मीटर ऊंचाई वाला लावा के साथ जो धुआं निकला है वह 2 किमी की दूरी तक पसरा हुआ है। फिलीपींस के वोलकैनोलॉजी (PHILVOCS) इंस्‍टीट्यूट के हवाले से Efe न्‍यूज ने यह जानकारी दी। वर्ष 1572 से अब तक ताल ज्‍वालामुखी 33 बार फट चुका है। इस ज्‍वालामुखी में विस्‍फोट से 1911 में 1,300 मौतें हुई थी और 1965 में 200 लोग मारे गए थे। 

रविवार को इंस्‍टीट्यूट ने अलर्ट जारी किया था। इसमें बताया गया था कि ज्‍वालामुखी के कारण 212 भूकंप के झटकों को महसूस किया गया। इनमें से 81 झटके पर्याप्‍त तीव्रता वाले थे। बता दें कि ज्‍वालामुखी फटने के बाद निकले राख से आस-पास का एरिया राख से ढक गया। अलर्ट में यह भी कहा गया कि इससे सुनामी की भी आशंका है।.

PHILVOCS के डायरेक्‍टर Renato Solidum ने कहा कि लावा निकलने का यह मतलब नहीं कि ज्‍वालामुखी में खतरनाक विस्‍फोट होगा ही। हालांकि उन्‍होंने इस संभावना से इंकार कर दिया था। खतरनाक जोन से लोगों को दूर रहने को कहा गया है। यह खतरनाक एरिया ताल के आस-पास का 14 किमी तक फैला है।

यह भी पढ़ें: न्‍यूजीलैंड: ज्‍वालामुखी विस्‍फोट से होने वाली मौतों की आपराधिक जांच शुरू

यह भी पढ़ें: फिलीपींस में फूटा ताल ज्‍वालामुखी, राजधानी मनीला तक पहुंची राख, 16,700 लोग हटाए गए

 

Posted By: Monika Minal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस