जेनेवा (स्विटजरलैंड), एएनआइ। पाकिस्तान की सरकारी मशीनरी पर अपने ही देश के बलूचिस्तान प्रांत के लोगों पर घोर अत्याचार करने का आरोप लगा है। एक बलूच कार्यकर्ता ने कहा है कि सरकार के खिलाफ विरोध को कुचलने के लिए बलूचों, पश्तूनों, मुहाजिरों, सिंधियों और धार्मिक अल्पसंख्यकों को अगवा किया जा रहा है, कई लोगों के गोलियों से छलनी शव मिले हैं। बलूच रिपब्लिकन पार्टी और व‌र्ल्ड बलूच ऑर्गेनाइजेशन ने रविवार को लंदन में पाकिस्‍तान के मैच के दौरान लार्ड्स क्रिकेट स्टेडियम के बाहर प्रदर्शन किया। 

बलूच रिपब्लिकन पार्टी के अध्यक्ष ब्रहमदग बुगती ने कहा, 'एक तरफ तो पाकिस्तान जबरन गायब किए जाने के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय समझौते पर हस्ताक्षर करने वाले देशों में शामिल हैं। वहीं, दूसरी तरफ वो लोगों को अगवा करने में जुटा हुआ है। बलूच रिपब्लिक पार्टी और व‌र्ल्ड बलूच ऑर्गेनाइजेशन ने इस संबंध में अंतरराष्ट्रीय जागरूकता अभियान शुरू किया है।'

बुगती ने कहा, 'हम अंतरराष्ट्रीय समुदाय से आग्रह करते हैं कि वो पाकिस्तान में बलूच व अन्य लोगों को बलात गायब करने के खिलाफ कार्रवाई करें।' पाकिस्तान सरकार की तरफ से गठित एक आयोग के मुताबिक 2014 से लोगों के गायब होने के पांच हजार से अधिक मामले सामने आए हैं।

लेकिन स्वतंत्र स्थानीय व अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं के मुताबिक गायब होने वालों की संख्या 20 हजार के आस-पास है। इनमें से ढाई हजार लोगों के गोलियों से छलनी, और घोर यातना की कहानी बयां करने वाले जख्मों के निशान के साथ शव मिल चुके हैं।

लॉर्ड के सामने किया प्रदर्शन 
बता दें कि इस समस्या की तरफ अंतरराष्ट्रीय जगत का ध्यान खींचने के लिए बलूच रिपब्लिकन पार्टी और व‌र्ल्ड बलूच ऑर्गेनाइजेशन ने रविवार को लंदन में लार्ड्स क्रिकेट स्टेडियम के बाहर प्रदर्शन किया था, तब विश्व कप में पाकिस्तान का वहां मैच चल रहा था।

 स्टेडियम में थे पाक सेना प्रमुख 
हालांकि, पाकिस्तान क्रिकेट के कुछ समर्थकों ने बलूचों द्वारा लगाए गए बैनर और पोस्टर फाड़ डाले थे। जिस समय यह घटना हुई उस समय स्टेडियम में अधिकारियों के साथ पाक सेना के प्रमुख कमर जावेद बाजवा भी मैच देख रहे थे।

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Arun Kumar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस