यरुशलम, एपी। इजरायल में साल भर में तीसरी बार होने वाले चुनाव के लिए प्रचार जोर पकड़ रहा है। विपक्ष के नेता बेनी गेंट्ज ने बेंजामिन नेतन्याहू और अरब पार्टियों के बगैर देश में सरकार बनाने का संकल्प जताया है। दो बार के चुनाव में किसी पार्टी या गठबंधन को बहुमत न मिलने के कारण तीसरी बार दो मार्च को मतदान होगा।

चुनावों में किसी भी पार्टी को पूर्ण बहुमत नहीं मिला था, मिलकर सरकार चलाने को तैयार नहीं

पिछले चुनावों में न तो गेंट्ज की ब्ल्यू एंड व्हाइट पार्टी को बहुमत मिला, और न ही प्रधानमंत्री नेतन्याहू की लिकुड पार्टी को। दोनों पार्टियां मिलकर सरकार चलाने को तैयार नहीं हुईं, इसीलिए तीसरी बार चुनाव कराने की नौबत आई है।

बहुमत न मिलने पर यहूदी और लोकतांत्रिक दलों का समर्थन लेना पसंद करेंगे

शनिवार रात एक न्यूज चैनल पर गेंट्ज ने कहा, आगामी चुनाव में भी बहुमत न मिलने पर वह यहूदी और लोकतांत्रिक दलों का समर्थन लेना पसंद करेंगे, न कि अरबी लोगों के दल का।

सरकार बनाने के लिए लिकुड पार्टी का समर्थन ले सकते हैं, नेतन्याहू पर भ्रष्टाचार के मामले चल रहे हैं

सरकार बनाने के लिए वह लिकुड पार्टी का समर्थन ले सकते हैं, लेकिन उन्हें नेतन्याहू का मंत्रिमंडल में रहना मंजूर नहीं होगा। नेतन्याहू पर भ्रष्टाचार के आपराधिक मामले चल रहे हैं।

गेंट्ज ने कहा- नेतन्याहू सरकार नहीं बना सकते

गेंट्ज ने कहा, नेतन्याहू राजनीति में अपनी ऐतिहासिक भूमिका खत्म कर चुके हैं। लिकुड और बीबी (नेतन्याहू का उपनाम) सरकार नहीं बना सकते और बीबी के बगैर लिकुड से समझौता संभव है।

नेतन्याहू का युग अब समाप्त हो गया, जल्द ही प्रधानमंत्री की कुर्सी से दूर होंगे

गेंट्ज इजरायल के पूर्व सेना प्रमुख हैं। वह फिलहाल राष्ट्रवादी इजरायल बीटेनू पार्टी के नेता लीबरमैन के नजदीक दिखाई दे रहे हैं। लीबरमैन भी नेतन्याहू के कट्टर विरोधी हैं। वह कहते हैं कि नेतन्याहू का युग अब समाप्त हो गया है, जल्द ही प्रधानमंत्री की कुर्सी से दूर होंगे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस