प्‍योंगयांग, एजेंसी। उत्तर कोरियाई तानाशाह किम जोंग-उन (North Korean leader KIM Jong-un) सजा देने के अपने क्रूरतम तरीकों के लिए भी जाना जाता है। मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक, इस बार उसने अपने जनरल को तख्तापलट की साजिश रचने के आरोप में पिरान्हा मछलियों से भरे टैंक में फेंकवा दिया है। आरोपी जनरल के नाम का खुलासा नहीं किया गया है। इसकी भी पुष्टि नहीं हो पाई है कि जनरल की मृत्‍यु चोटों से हुई है या उसे मछलियों द्वारा निगल लिया गया है।

इससे पहले किम जोंग-उन ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ बातचीत विफल होने के कारण अपने अमेरिकी राजदूत को मरवा दिया था। हालांकि, बाद में उसके किम जोंग उन के साथ नजर आने की भी खबरें सामने आई थीं। इससे इतर उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन के सौतेले भाई किम जोंग नम (Kim Jong Nam) की साल 2017 में मलेशिया में हत्या कर दी गई थी। एक विदेशी अखबार की रिपोर्ट में दावा किया गया है कि किम जोंग नम सीआइए (अमेरिकी इंटेलिजेंस एजेंसी) का मुखबिर था।

रिपोर्ट में यह भी दावा किया गया है कि टैंक में फेंके जाने से पहले जनरल के हाथ काटे गए थे। यह टैंक खतरनाक पिरान्हा मछलियों से भरा हुआ था। सामने से देखने पर ये मछलियां डरावनी दिखती हैं, इसलिए इन्‍हें शैतान मछली के नाम से भी जाना जाता है। पिरान्हा मछलियों के दांत बेहद नुकिले होते हैं जिनकी मदद से ये मछलियां मांस को सेकेंड्स में फाड़ देती हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, इन मछलियों को ब्राजील से मंगाया गया था।  

द स्‍टार संडे की रिपोर्ट (The Star on Sunday) की रि‍पोर्ट के मुताबिक, ऐसा माना जा रहा है कि किम जोंग-उन ने 1977 में आई जेम्स बॉन्ड की फिल्म द स्‍पाई हू लव्‍ड मी (The Spy Who Loved Me) से प्रेरित होकर इस सजा का फरमान सुनाया था। फिल्म में दिखाया गया है कि विलेन पिरान्हा से एक पूल में अपने सहयोगी को फेंकवा देता है। इससे पहले किम ने पांच उत्‍तर कोरियाई अधिकारियों को मौत की सजा सुनाई थी। 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Krishna Bihari Singh