सियोल, एएफपी। उत्तर कोरिया (North Korea) ने दो संदिग्ध क्रूज मिसाइल (Cruise Missile) का गुरुवार सुबह परीक्षण किया, जो उत्तर कोरिया का छठा  हथियार परीक्षण है। दक्षिण कोरिया के सैन्य अधिकारियों ने यह जानकारी दी।

उत्‍तर कोरिया की ये गतिविधियां इस बात का स्पष्ट संकेत दे रहीं है कि उस पर अमेरिकी प्रतिबंधों का कोई असर नहीं होने वाला है। उल्लेखनीय है कि इस साल का सबसे पहला परीक्षण उत्‍तर कोरिया ने 6 जनवरी को किया था और इसके बाद 11 जनवरी को भी एक 'बैलिस्टिक मिसाइल' का परीक्षण किया।

एक अधिकारी ने विभागीय नियमों का हवाला देकर अपना नाम गोपनीय रखे जाने की शर्त पर कहा कि दक्षिण कोरिया और अमेरिका के खुफिया अधिकारी इन प्रक्षेपणों का विश्लेषण कर रहे हैं, लेकिन उन्होंने विस्तार से जानकारी उपलब्ध नहीं कराई।  उत्तर कोरिया ने हाल के महीनों में क्षेत्र में कई नई मिसाइलों का परीक्षण किया है। कुछ विशेषज्ञों का कहना है कि उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग-उन रियायतें पाने के लिए बातचीत से पहले अपने पड़ोसियों तथा अमेरिका पर मिसाइल प्रक्षेपण और अन्य खतरों के माध्यम से दबाव डालने की कोशिश कर रहे हैं।

पिछले साल के सितंबर माह में भी उत्‍तर कोरिया ने इसी तरह की एक मिसाइल का परीक्षण किया था। उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन ने हाल ही में देश के परमाणु हथियार कार्यक्रम के विस्तार का आह्वान किया था। सत्‍ता में आने के बाद से किम जोंग उन लगातार अपने परमाणु कार्यक्रम को आगे बढ़ाने में जुटे हैं। सत्‍ता में आने के बाद फरवरी 2013 में न्‍यूक्लियर बम का भी टेस्‍ट किया था। वर्ष 2016 में जनवरी से लेकर 2018 की शुरुआत तक उत्‍तर कोरिया ने करीब 90 मिसाइल परीक्षण किए। 

Edited By: Monika Minal