सिओल, एपी। उत्तर कोरियाई तानाशाह किम जोंग उन के स्वास्थ्य को लेकर अकसर लगाई जाने वाली अटकलों को फिर से हवा मिली है। समाचार एजेंसी एपी की रिपोर्ट के मुताबिक किम जोंग उन का वजन लगभग 10 से 20 किलोग्राम तक कम हो गया है। दक्षिण कोरिया, अमेरिका और जापान जैसे देशों में किम का स्वास्थ्य चर्चा के केंद्र में है। सोशल मीडिया पर हाल में जारी की गई किम जोंग उन की तस्वीरों को देखने से लग रहा है कि‍ उनका वजन काफी कम हो गया है। उनकी घड़ी पहले से ढीली हो गई है। यही नहीं उनका चेहरा भी पतला लग रहा है।

कुछ विश्लेषकों का कहना है कि किम का वजन जो पहले 140 किलो था और अब 10 से 20 किलो कम हो गया है। सियोल स्थित 'कोरिया इंस्टीट्यूट फॉर नेशनल यूनिफिकेशन' के एक वरिष्ठ विश्लेषक होंग मिन ने कहा कि पांच फुट आठ इंच लंबे किम का वजन कम होना बीमारी के संकेत के बजाय उनके स्वास्थ्य में सुधार ज्‍यादा लग रहा है। दरअसल बहुत शराब पीने और धूम्रपान करने वाले किम के परिवार के कई सदस्य दिल की बीमारियों से ग्रसित रहे हैं। किम जोंग उन के पिता और दादा की भी दिल की बीमारियों के चलते मौत हुई थी।

विशेषज्ञों का कहना है कि तानाशाह किम का अधिक वजन हृदय रोगों के खतरे को बढ़ा सकता है। सियोल स्थित 'इंस्टीट्यूट ऑफ नॉर्थ कोरियन स्टडीज' के सेओ यू-सोक ने कहा कि उत्तर कोरिया में हाल में सत्तारूढ़ वर्कर्स पार्टी के पहला सचिव पद बनाया है। इस पर काबिज शख्‍स देश में किम के बाद दूसरे नंबर होगा। यही नहीं इस पद का संबंध किम जोंग उन के स्वास्थ्य से जुड़ी संभावित समस्याओं से भी हो सकता है। हालांकि अभी भी किम जोंग उन ने किसी को नामित नहीं किया है क्योंकि ऐसा करने से सत्ता पर उसकी पकड़ ढीली पड़ने की आशंका है।

दरअसल अक्‍सर किम जोंग उन की सेहत को लेकर अक्‍सर सवाल उठते रहते हैं। क्‍या किम का वजन और बढ़ गया है, क्या चलने में उसकी सांस फूल रही है, उसके पास लाठी क्यों है, किम महत्वपूर्ण सरकारी कार्यक्रम में शामिल क्यों नहीं हुआ। यही नहीं इन सवालों के जवाब भी खोजने की कोशिश भी की जाती है। इस बीच एकबार फि‍र उसके स्‍वास्‍थ्‍य को लेकर अटकलों का बाजार गरम हो गया है। इस बार किम जोंग उन का वजन बढ़ा नहीं वरन काफी कम हो गया है। फिलहाल उत्‍तर कोरियाई तानाशाह एकबार फिर चर्चा के केंद्र में है...