यरुशलम, रायटर। इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने फिर कहा है कि वह विवादास्पद बस्तियों को इजरायल अधिकृत वेस्ट बैंक में मिला लेंगे। रविवार को वेस्ट बैंक की एक इजरायली बस्ती में नेतन्याहू ने कहा कि वह अपने देश का विस्तार करते हुए सभी बस्तियों को अपनी सीमा में शामिल कर लेंगे। विवादित क्षेत्र में स्थित ये बस्तियां इजरायल और फलस्तीन के बीच विवाद का अहम कारण हैं।

नेतन्याहू का यह बयान 17 सितंबर को होने वाले चुनाव से पहले आया है। इस बार भी नेतन्याहू ने हालांकि इसके लिए कोई समयसीमा का जिक्र नहीं किया है। गत अप्रैल में हुए मतदान से पहले भी उन्होंने ऐसा ही बयान दिया था।

नेतन्याहू के बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए फलस्तीन के राष्ट्रपति महमूद अब्बास के प्रवक्ता नबील अबु रैनाह ने कहा कि यह पूरी तरह अस्वीकार्य है। इससे क्षेत्र में शांति, सुरक्षा और स्थायित्व हासिल नहीं होगा। 1967 में इजरायल ने वेस्ट बैंक के इस इलाके पर कब्जा कर लिया था।

पिछले चुनाव में किसी भी दल को सरकार बनाने लायक बहुमत नहीं मिलने के बाद इजरायल में फिर चुनाव कराया जा रहा है। इस चुनाव में मुख्य मुकाबला नेतन्याहू की लिकुड पार्टी और पूर्व सेना प्रमुख बेनी गेंट्ज के नेतृत्व वाली ब्लू एंड व्हाइट पार्टी के बीच बताया जा रहा है।

इसे भी पढ़ें: नेतन्याहू ने ट्रंप पर रखा गोलन पहाडि़यों का नाम, जल्द ही उनके नाम पर स्थापित की जाएगी नई बस्ती

इसे भी पढ़ें: UN में भारत ने किया इजरायल का समर्थन, नेतन्याहू ने PM मोदी को कहा- धन्यवाद

Posted By: Dhyanendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप