यरुसलम, प्रेट्र। इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्‍याहू सरकार के गठन के मोर्चे पर एक बार फिर असफल हो गए। इजरायल में गठबंधन की सरकार बनाने में विफल रहे प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के प्रतिद्वंदी और पूर्व आर्मी चीफ बेन्नी गैंट्ज के लिए सरकार बनाने का रास्‍ता प्रशस्‍त हुआ है। बेन्‍नी गैंट्ज के लिए भी बहुमत जुटाना उनके लिए भी बड़ी चुनौती साबित हो सकता है।

राष्ट्रपति रुवेन रिवलिन ने कहा है कि वह अब पूर्व सेना प्रमुख और ब्लू एंड ह्वाइट पार्टी के नेता गेंट्ज को सरकार बनाने का मौका देंगे। इजरायल में गत 17 सितंबर को पांच माह में दूसरी बार संसदीय चुनाव हुए थे। लेकिन 120 सदस्यीय संसद में किसी दल को बहुमत नहीं मिला। नेतन्याहू की लिकुड पार्टी को 32 और ब्लू एंड ह्वाइट पार्टी को 33 सीटें मिली थीं।

बाकी सीटों पर छोटी पार्टियों ने जीत दर्ज की थी। इजरायल में गत अप्रैल में भी संसदीय चुनाव हुए थे। उस समय भी किसी दल को बहुमत नहीं मिला था।पिछले माह 17 सितंबर को हुए संसदीय चुनाव में किसी भी पार्टी को बहुमत नहीं मिलने पर राष्ट्रपति ने नेतन्याहू को सरकार बनाने का मौका दिया था। इसके लिए उन्‍हें 28 दिनों का समय भी दिया गया था। इसके तहत नेतन्‍याहू ने गेंट्ज को सरकार की गठन के लिए प्रस्ताव भी पेश किया था। इसके लिए राष्‍ट्रपति ने भी कोशिश की थी।

एक वीडियो संदेश जारी कर नेतन्याहू ने कहा, 'मैंने साझा सरकार बनाने के लिए कड़ी मेहनत की। लेकिन दोबारा चुनाव टालने की मेरी कोशिश असफल रही क्योंकि ब्लू एंड ह्वाइट पार्टी के नेता ने इंकार कर दिया।' इसका जवाब देते हुए 60 वर्षीय गैंट्ज ने ट्विटर पर बताया, 'यह ब्लू एंड ह्वाइट पार्टी का समय है।' अब बेन्‍नी गैंट्ज को भी गठबंधन सरकार बनाने के लिए मशक्‍कत करनी होगी। अगर वह भी इस अवधि में सरकार बनाने में विफल हुए तो इजरायल में एक साल में तीसरी बार चुनाव कराने की नौबत आ सकती है।

यह भी पढ़ें: इजरायल में मिला पांच हजार साल पुराना शहर, पुरातत्वविदों ने बताया 'सबसे बड़ी खोज'

यह भी पढ़ें: नई सरकार के बिना ही इजरायल में शपथ ग्रहण, सत्ता में बने रहने का रास्ता ढूंढ रहे नेतन्याहू

 

Posted By: Monika Minal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप