खारतूम, पीटीआइ। सूडान की एक फैक्ट्री के एलपीजी टैंकर में विस्फोट के बाद अस्पताल में भर्ती कराए गए या लापता भारतीय श्रमिकों में ज्यादातर तमिलनाडु और बिहार के हैं। चीनी मिट्टी का सामान बनाने वाली फैक्ट्री में मंगलवार को हुए धमाके में 18 भारतीयों समेत 23 लोगों की मौत हो गई थी। करीब 130 लोग घायल हुए थे, जिन्हें राजधानी खारतूम के अल-अमल और इब्राहिम मलिक अस्पतालों में भर्ती कराया गया है।

अस्पताल में भर्ती सात भारतीयों में से चार की हालत गंभीर

भारतीय दूतावास ने खारतूम के बाहरी इलाके में स्थित सीला सेरेमिक फैक्ट्री में विस्फोट का शिकार हुए भारतीय नागरिकों की सूची जारी की है। इसमें अस्पताल में भर्ती और लापता भारतीयों की भी जानकारी दी गई है। अस्पताल में भर्ती सात भारतीयों में से चार की हालत गंभीर बनी हुई है। 16 भारतीय लापता बताए गए हैं। इनमें छह तमिलनाडु, पांच बिहार, चार राजस्थान, चार उत्तर प्रदेश और दो हरियाणा के रहने वाले हैं। दिल्ली और गुजरात के भी एक-एक नागरिक लापता हैं। भारतीय दूतावास के अनुसार, 'कुछ लापता मृतकों की सूची में हो सकते हैं। अभी तक कई शवों की पहचान नहीं हो पाई है।'

अस्पताल में ये हैं भर्ती

जय कुमार (तमिलनाडु), बोबलन (तमिलनाडु), मुहम्मद सलीम (तमिलनाडु), रविंद्र सिंह (राजस्थान), सुरेंद्र कुमार (राजस्थान), नीरज कुमार (बिहार) और सोनू प्रसाद (उत्तर प्रदेश)।

ये भारतीय हैं लापता

रमा कृष्णा (तमिलनाडु), राज शेखर (तमिलनाडु) और वेंकट चेलम (तमिलनाडु), राम कुमार, (बिहार), अमित तिवारी (बिहार), हरि नाथ (बिहार), नितिश कुमार मिश्रा (बिहार), जीशान खान (उत्तर प्रदेश), मोहित (उत्तर प्रदेश), प्रदीप वर्मा (उत्तर प्रदेश), भजन लाल (राजस्थान), जयदीप (राजस्थान), पवन (हरियाणा), प्रदीप (हरियाणा), इंतजार खान (दिल्ली) और बहादुर (गुजरात)।

फैक्ट्री में थे 60 भारतीय श्रमिक

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने घटना पर दुख व्यक्त करते हुए बताया कि फैक्ट्री में 60 भारतीय काम करते थे। अनुमान है कि हादसे के समय 53 भारतीय घटनास्थल पर मौजूद थे।

सूडान सरकार का बयान

सूडान सरकार का कहना है कि अनुचित तरीके से विस्‍फोटक सामग्री संग्रहीत की गई थी, जिसके कारण आग फैल गई। मौके पर मौजूद अधिकारियों ने बताया कि उत्‍तर खार्तूम के औद्योगिक जोन में टाइल निर्माण इकाई में विस्‍फोट के बाद काले धुएं का गुबार आसमान में छा गया।

 

Posted By: Tilak Raj

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस