प्योंगयांग, एपी। उत्तर कोरिया ने अपनी 70वीं सालगिरह के मौके पर रविवार को यहां भव्य सैन्य परेड का आयोजन किया। लेकिन इस परेड में उसने पिछले वर्षो के मुकाबले अपनी अत्याधुनिक मिसाइलों का प्रदर्शन नहीं किया। इसके बजाय इस साल की परेड देश की अर्थव्यवस्था के विकास में नागरिकों के सहयोग पर केंद्रित रही। उत्तर कोरिया के सर्वोच्च नेता किम जोंग उन परेड में शामिल हुए लेकिन उन्होंने परेड देखने आए करीब 50 हजार लोगों को संबोधित नहीं किया।

चीन की संसद के प्रमुख ली जानशु के अलावा उत्तर कोरिया के सहयोगी देशों के प्रतिनिधिमंडल और रूसी संसद के उच्च सदन की अध्यक्ष वेलेंटिना मैटवेयिनको भी परेड देखने पहुंची थीं।
परेड की शुरुआत उत्तर कोरिया की संसद के प्रमुख किम योंग नाम के भाषण से हुई, जो देश की परमाणु शक्ति की जगह आर्थिक लक्ष्यों पर ही केंद्रित था। परेड में टैंकों और मिसाइलों का सीमित प्रदर्शन किया गया। विभिन्न सैन्य दस्तों के मार्च के साथ छात्र, नर्से और निर्माण कर्मी रंग-बिरंगे कपड़े पहनकर परेड में शामिल हुए।

पिछले वर्षो की परेड में उत्तर कोरिया ने अपनी सैन्य शक्ति और मिसाइलों का जोरदार प्रदर्शन किया था। लेकिन इस बार की परेड में अत्याधुनिक मिसाइलों के प्रदर्शन से परहेज को परमाणु निरस्त्रीकरण संबंधी किम के हालिया वादे से जोड़कर देखा जा रहा है।
सिंगापुर में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ बैठक के बाद पिछले हफ्ते दक्षिण कोरियाई प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात के दौरान भी किम ने परमाणु निरस्त्रीकरण का आश्वासन दिया था।

 

Posted By: Arun Kumar Singh