हनोई, रॉयटर्स। वियनताम में भारी बारिश के चलते हुआ भूस्खलन में आर्मी ब्रेकर्स (Army barracks) तक पहुंच गया। यहां तक पहुंचे भूस्खलन में 22 जवान लापता हो गए हैं। सभी जवानों को ढूंढ़ा जा रहा है। बता दें कि पिछले दिनों से लगातार हो रही भारी बारिश के चलते यहां पर बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, अगले हफ्ते तक यहां पर भारी बारिश की आशंका है।

यहां बाढ़ से जूझ रही सेना का अब तक का सबसे बड़ा नुकसान है। घटना में आठ सैनिकों को बचा लिया गया और तीन के शव खोज लिए गए हैं। वियतनाम में अक्टूबर से लगातार भारी बारिश हो रही है और अब तक 70 लोगों की मौत हो गई है। सरकारी प्रवक्ता ने बताया, यहां नदियों का जल स्तर बीस सालों में सबसे अधिक है। सबसे ज्यादा नुकसान भूस्खलन से हो रहा है। पूर्व में 15 मजदूरों की इसी तरह से मौत हो गई थी।

बता दें कि पिछले दिनों वियतनाम में एक दर्दनाक हादसा हो गया था। यहां बचाव दल ने भूस्खलन की चपेट में आए 11 सैन्यकर्मियों और दो अन्य लोगों के शव बरामद किया था।ये कर्मी भूस्खलन की दूसरी घटना के पीड़ितों तक पहुंचने की कोशिश कर रहे थे, लेकिन इस दौरान ये खुद दर्दनाक हादसे का शिकार हो गए, जिसमें इनकी मौत हो गई।  सरकारी मीडिया ने शुक्रवार को यह सूचना दी थी।  

रिपोर्ट के मुताबिक, सेना के अधिकारी मंगलवार को वन रेंजर की एक चौकी पर आराम कर रहे थे, जब एक पहाड़ी का हिस्सा ढह गया, जिसकी चपेट में चौकी आ गई। टीम के केवल आठ लोग ही बचने में कामयाब रहे। वे थुआ थिएन-ह्यू प्रांत में एक पनबिजली संयंत्र के निर्माण स्थल पर जा रहे थे, जहां हुए भूस्खलन में दर्जनों लोग लापता हो गए थे। मध्य वियतनाम में पिछले हफ्ते से अब तक बाढ़ में कम से कम 36 लोगों की जान जा चुकी है। यहां हालात कब बिगड़ जाएं कहा नहीं जा सकता है।

भारत में भी भारी बारिश का कहर

इधर, भारत में भी हाल ही में बारिश ने काफी कहर बरपाया। आंध्र प्रदेश और तेलंगाना के कई हिस्सों में लगातार कई घंटों तक हुई भारी बारिश की वजह से बाढ़ जैसे हालात बन गए। मूसलाधार बारिश ने जन-जीवन को बुरी तरह से प्रभावित कर दिया है। सड़कों और निचले इलाकों में पानी भर गया है। भारी बारिश के कारण हुए हादसों में 20 से अधिक लोगों की मौत हो गई।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस