रोम, एएनआइ। इटली के प्रधानमंत्री मारियो द्राघी ने दो अलग-अलग कोरोना वैक्सीन की डोज ली है। उन्होंने पहली डोज एस्ट्राजेनेका की ली थी। वहीं दूसरी डोज फाइजर की ली। यही नहीं जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल ने भी दो अलग-अलग वैक्सीन की डोज ली है। कोरिएरे डेला सेरा अखबार ने जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल के टीकाकरण पर अपनी रिपोर्ट में इटली के प्रधानमंत्री को दी गई वैक्सीन की दूसरी डोज के बारे में बताया।

दोनों यूरोपीय नेताओं ने पहली खुराक यूके-स्वीडिश कंपनी एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन की ली थी। पिछले हफ्ते मारियो द्राघी ने कोरोना टीकों के संयुक्त उपयोग का समर्थन किया था। द्राघी के अनुसार वैक्सीन की पहली डोज लगने के बाद उनमें कम संख्या में एंटीबॉडी विकसित हुई। इसलिए उन्हें दूसरी डोज के लिए दूसरे टीके का उपयोग करने की सलाह दी गई। कोरिएरे के मुताबिक, सोमवार को ड्रैगी को फाइजर का टीका लगवाया। वहीं मर्केल को मॉडर्ना वैक्सीन लगाया गया।

इटली में कोरोना के मामलों और अस्पतालों में भर्ती होने वाले मरीजों की संख्या में भारी गिरावट आई है। ऐसे में अब यहां  खुले में मास्क पहनने की अनिवार्यता नहीं रहेगी। सरकार ने जानकारी दी है कि कोरोना मामलों और अस्पताल में भर्ती होने में गिरावट आई है, ऐसे में  28 जून से खुले में मास्क पहनने की अनिवार्यता खत्म कर दी जाएगी।

पिछले साल अक्टूबर में जब देश महामारी की दूसरी लहर के दौरान बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए अधिकारी संघर्ष कर रहे थे, तो मास्क पहनना अनिवार्य किया गया था। मारियो द्राघी की सरकार अप्रैल से लगातार कोरोना से संबंधित प्रतिबंध हटा रही है। रेस्तरां, बार, सिनेमा और जिम हॉल पहले ही खोल दिए गए हैं। देशभर में आवाजाही को लेकर पाबंदियां भी हटा दी गई हैं। अब खुली जगहों पर लोगों को मास्क पहनने की आवश्यकता नहीं होगी। लोगों को फिलहाल बंद सार्वजनिक क्षेत्रों में मास्क लगाना आवश्यक होगा। यह निर्णय अगले सोमवार से प्रभावी होगा।

Edited By: Tanisk