गाजा, आइएएनएस। फिलीस्तीनी इस्लामिक हमास ने फिर से तनाव बढ़ने की आशंका जताई है। हमास का कहना है कि मंगलवार को पूर्वी यरुशलम में आयोजित किया जा रहा एक इजरायली फ्लैग मार्च तनाव के नए दौर को जन्म देगा। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, गाजा में हमास के प्रवक्ता अब्दुलातिफ अल-कानौआ ने एक बयान में कहा कि तथाकथित फ्लैग मार्च का आयोजन फिलिस्तीन में एक नई लड़ाई को भड़काने लिए एक डेटोनेटर का काम करेगा।

उन्होंने कहा, 'यरूशलेम की सड़कों पर बसने वालों द्वारा आयोजित यह फ्लैग मार्च पवित्र शहर और अल-अक्सा मस्जिद की रक्षा के लिए एक नई लड़ाई का नेतृत्व करेगा।' गाजा में एक वरिष्ठ इस्लामिक जिहाद नेता अहमद अल-मुदलाल ने कहा कि अगर यह फ्लैग मार्च यरूशलम में इस्लामी क्षेत्रों में प्रवेश करता है, तो इससे क्रोध की स्थिति पैदा हो जाएगी और पूरे फिलिस्तीनी क्षेत्रों में विद्रोह बढ़ जाएगा।

द टाइम्स ऑफ इजरायल ने बताया कि आयोजकों के अनुसार, मार्च मंगलवार को हानेविइम सेंट में शुरू होगा और दमिश्क गेट की ओर बढ़ेगा। आयोजकों ने एक बयान में कहा कि प्रतिभागी पुराने शहर के प्रवेश द्वार से प्रवेश नहीं करेंगे, बल्कि इसके बजाय वो आगे बढ़कर जाफा गेट से प्रवेश करेंगे। इसके बाद प्रतिभागी पुराने शहर से होते हुए जाफा गेट से पश्चिमी दीवार की ओर मार्च करेंगे। इस वार्षिक कार्यक्रम में हजारों यहूदी यरूशलेम के मुस्लिम-बहुल हिस्सों से पश्चिम की ओर मार्च करते हैं। ये लोग 1967 के छह दिवसीय युद्ध के दौरान इजरायल द्वारा कब्जा किए गए शहर के पूर्वी हिस्से की हिब्रू वर्षगांठ को चिह्नित करने के लिए संप्रभुता दर्शाने के लिए यह मार्च करते हैं।

उल्लेखनीय है कि पिछले महीने दस मई से शुरू हुए संघर्ष में इजरायल ने गाजा पट्टी में हमास के ठिकानों को निशाना बनाकर सैकड़ों हवाई हमले किए थे। वहीं, हमास ने इजरायल में चार हजार से अधिक राकेट दागे थे। 11 दिन चले इस संघर्ष में गाजा में 243 फलस्तीनियों की मौत हो गई थी जबकि इजरायल में 12 लोगों की जान गई थी।

Edited By: Neel Rajput