गाजा सिटी, एपी। इस्लामिक लड़ाकू समूह हमास ने रविवार को कहा कि उसने इस्माइल हानियेह को फिर से अपना सुप्रीम लीडर चुन लिया है। पिछले दो वर्षों से निर्वासन में रह रहे इस्माइल को शूरा काउंसिल ने चार वर्ष का नया कार्यकाल दिया है। शूरा काउंसिल इस्लामिक समूह का शीर्ष नीति-निर्धारण निकाय है। इस्माइल का निर्विरोध निर्वाचन हुआ है।

इस्माइल 2006 के संसदीय चुनाव में हमास के जीतने के बाद फिलिस्तीन के प्रधानमंत्री भी रहे

इस्माइल 2004 के इजरायली हवाई हमले में मारे गए हमास के संस्थापक अहमद यासीन के सहयोगी रह चुके हैं। 2006 के संसदीय चुनाव में हमास के जीतने के बाद इस्माइल फिलिस्तीन के प्रधानमंत्री भी रहे।

हमास एक इस्लामिक मूवमेंट है जो इजरायल की तबाही चाहता है 

इसके एक साल पहले इस्लामिक समूह ने राष्ट्रपति महमूद अब्बास के प्रतिद्वंद्वी समूह से गाजा पर नियंत्रण अपने हाथों में ले लिया था। 2017 में वह मूवमेंट के प्रमुख चुने गए।

इस्माइल ने 2019 में गाजा छोड़ दिया था, तुर्की और कतर में समय व्यतीत किया

इस्माइल ने 2019 में गाजा छोड़ दिया था और तुर्की एवं कतर में अपना समय व्यतीत किया। बता दें कि हमास एक इस्लामिक मूवमेंट है जो इजरायल की तबाही चाहता है। 2007 में गाजा पर नियंत्रण पाने के बाद से समूह ने इजरायल के खिलाफ चार लड़ाइयां लड़ी हैं।

Edited By: Bhupendra Singh