नई दिल्‍ली, जेएनएन। PM Boris Johnson News: ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जानसन की सरकार एक बार फ‍िर संकटों से घिर गई है। जानसन के करीबी दो मंत्रियों ने मंगलवार रात को इस्तीफा दे दिया है। इसके बाद ब्रिटेन में राजनीतिक संकट गहरा गया है। पहले से ही विवादों और मुश्किलों में घिरे पीएम जानसन पर भी पद छोड़ने का दबाव बढ़ सकता है। गौरतलब है कि ब्रिटेन के वित्त मंत्री ऋषि सुनक और स्वास्थ्य मंत्री साजिद जाविद ने इस्तीफा दे दिया था। पीएम जानसन ने अब सुनक की जगह नादिम जाहवी को नया वित्त मंत्री और ब्रिटिश कैबिनेट के चीफ आफ स्टाफ स्टीव बार्सले को जाविद के बाद स्वास्थ्य सचिव की जिम्मेदारी दी है। ऐसे में सवाल उठ रहे हैं कि क्‍या ब्रिटेन में जानसन की सरकार अस्थिर हुई है। अब यह देखना दिलचस्‍प होगा कि विपक्ष की क्‍या भूमिका होती है। क्‍या जानसन सरकार अल्‍पमत में आ गई है। जानसर सरकार का अंदरुनी कलह क्‍या सामने आ गया है।

1- विदेश मामलों के जानकार प्रो हर्ष वी पंत का कहना है कि जानसन सरकार के दो मंत्रियों का इस्‍तीफा यह दर्शाता है कि सरकार में सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। उन्‍होंने कहा कि ब्रिटेन में संसदीय व्‍यवस्‍था है। इस व्‍यवस्‍था में कोई व्‍यक्ति प्रधानमंत्री पद पर तभी तक रह सकता है, जब तक उस पार्टी का सदन में बहुमत हासिल हो। जानसन के दो मंत्रियों का इस्‍तीफा पार्टी के अंदरुनी कलह को उजागर करता है। ऐसे में यह कहा जा सकता है कि जानसन की सरकार संकट में है।

2- इस्तीफे के साथ ही दोनों मंत्रियों ने बोरिस जानसन को पत्र भी लिखा है। ऋषि सुनक ने लिखा कि वह सरकार छोड़ने से दुखी हैं, लेकिन वह मंत्री पद पर इस तरीके से काम नहीं कर सकते। वहीं, साजिद जाविद ने लगातार हो रहे घोटालों के बाद जानसन की शासन करने की क्षमता पर भी सवाल उठाए हैं। बोरिस जॉनसन पर सांसद क्रिस पिंचर को डिप्टी चीफ व्हिप नियुक्त करने को लेकर भी आरोप लग रहे हैं। प्रो पंत ने कहा कि यह जानसन सरकार के लिए कतई शुभ नहीं है।

3- प्रो पंत ने कहा कि काफी समय से बोरिस जानसन अपनी ही पार्टी के अंदरुनी कलह का सामना कर रहे है। ब्रिटिश प्रधानमंत्री जानसन के बारे में कहा जाने लगा है कि वह शासन करने के लिए योग्य नहीं हैं। हाल ही में कोरोना प्रतिबंधों और भ्रष्टाचार के सवालों से घिरे जानसन को सदन में विश्वास मत तक का सामना करना पड़ा था। हालांकि, तब वह अपनी कुर्सी बचाने में सफल रहे थे। ब्रिटेन में दो मंत्रियों के इस्तीफे के बाद यह संकट और गहरा गया है।

कौन होगा ब्रिटेन का नया पीएम ?

ब्रिटिश मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक दबाव के बीच अगर जानसन पद छोड़ते हैं तो उनकी जगह पर भारतीय उद्योगपति नारायण मूर्ति के दामाद और ब्रिटेन के पूर्व वित्‍त मंत्री ऋषि सुनक देश के पीएम बन सकते हैं। जानसन के हटने की सूरत में प्रधानमंत्री पद के लिए ऋषि सुनक की सबसे अधिक संभावना है। दूसरे नंबर पर ब्रिटेन की विदेश मंत्री लिज ट्रूज का नाम है। कंजर्वेटिव पार्टी की नेता लिज ट्रूज को जमीनी स्तर पर लोग खासा पसंद करते हैं। वेबसाइट कंजर्वेटिव होम द्वारा किए गए पार्टी सदस्यों के चुनावों में वो हमेशा ही टाप पर रहती हैं। 46 साल की ट्रूज ने जानसन सरकार के शुरुआती दो सालों में अंतरराष्ट्रीय व्यापार सचिव के तौर पर काम किया। पिछले साल उन्हें यूरोपियन यूनियन से बात करने के लिए प्रमुख वार्ताकार नियुक्त किया गया था। 

पीएम जानसन ने मानी गलती

पार्टी के अंदर बढ़ते दबाव के बीच मंगलवार को पीएम बोरिस जानसन ने स्वीकार किया था कि संसद के एक निलंबित और दागदार सदस्य क्रिस पिंचर को कदाचार की शिकायत का पता होने के बाद भी सरकार के अहम पद डिप्टी चीफ व्हिप पर नियुक्त करना गलत था। इसके बाद वित्त मंत्री ऋषि सुनक समेत सरकार के वरिष्ठ कैबिनेट मंत्रियों ने इस्तीफा दे दिया। पीएम जानसन ने इस बारे में खेद भी जताया। इसके साथ ही जानसन का प्रीमियर कैबिनेट बिखरने के कगार पर आ गया है।

Edited By: Ramesh Mishra