मैक्सिको, एपी। कोरोना वायरस की बीच वेस्टर्न मैक्सिको में एक जेल में बंद कैदियों के बीच हुए विवाद के बाद साल लोगों की मौत हो गई है जबकि नौ लोग घायल हो गए हैं। मैक्सिको के वेस्टर्न राज्य जलिस्को राज्य अधिकारियों ने कुख्यात पुएंटे ग्रांडे जेल परिसर में हत्याओं को दंगा के बजाय कैदियों के बीच लड़ाई के रूप में वर्णित किया। राज्य के जेल निदेशक, जोस एंटोनियो पेरेज़ (josé Antonio Pérez) ने कहा कि यहां पर कभी कोई दंगा नहीं हुआ था। फिलहाल अधिकारियों ने साफ नहीं किया है कि इन कैदियों के पास इस विवाद में 2 बुंदक कहां से आई। 

अभियोजकों ने कहा कि हमलावरों में से पांच को गिरफ्तार कर लिया गया। परेज ने बताया कि कैदियों के समूह ने उन कैदियों पर हमला किया जिन्होंने कुछ किया ही नहीं था, जिसके बाद जेल के दूसरे कैदियों ने उन पर हमला कर दिया। यह लड़ाई जेल में बेसबॉल के एक मैच के बाद हुई थी, लेकिन यह स्पष्ट नहीं है कि इस झगड़े का संबंध उस मैच से है या नहीं और न ही यह स्पष्ट कि यह मामला ड्रग गिरोहों से संबंध रखता है क्योंकि अक्सर मैक्सिको की जेल में झगड़ा ड्रग गिरहों में होता है। 

अधिकारियों ने बताया कि सात मृतकों में से तीन की गोली मारकर हत्या कर दी गई और चार को पीट-पीटकर मारा गया है। वहीं नौ में से छह घायलों को पीटा गया और तीन को गोलियां लगी है। बता दें कि पुएंटे ग्रांडे वही जेल है, जहां से साल 2001 में नशीले पदार्थों के तस्कर एल चापो गुजमैन जेल से भागा था।

बता दें कि पूरी दुनिया इस वक्त कोरोना संकट से जूझ रही है। ऐसे समय में यह घटना हुई है। मैक्सिकों नॉर्थ अमेरिका में बसी एक देश है। यहां पर भी कोरोना वायरस का कहर बना हुआ है। यहां पर संक्रमितों का आंकड़ा 62 हजार के पार पहुंच गया है वहीं  मरनेवालों की संख्या 6 हजार से ज्यादा हो गई है। 

Posted By: Pooja Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस