जर्काता, एजेंसी। इंडोनेशिया के राष्‍ट्रपति जोको विडोडो ने रविवार को दक्षिणी जावा द्वीप पर आए भूकंप में आठ लोगों की मौत के बाद तेजी से बचाव और राहत के प्रयासों के आदेश दिए हैं। राष्‍ट्रपति ने देश के नाम अपने प्रसारण में कहा कि लुमाजैंग शहर में विस्‍थाफ‍ितों के लिए आश्रय स्‍थल बनाए गए हैं। उन्‍होंने कहा कि मलबे के नीचे दबे लोगों का पता लगाया जाए और उनके उपचार का प्रबंध किया जाए। उधर, आपदा एजेंसी बीएनपीबी ने कहा कि शनिवार को 5.9 तीव्रता के भूकंप में तीन अन्य लोग बुरी तरह घायल हो गए और 1,180 से अधिक इमारतें क्षतिग्रस्त हो गईं। इंडोनशियाई मीडिया में इन तस्‍वीरों को देखा जा सकता है। 

बता दें क‍ि इंडोनेशिया के मुख्य द्वीप जावा में आये भूकंप में अब तक आठ लोगों की मौत हो गई है। भूकंप के जोरदार झटके पर्यटक केंद्र बाली में भी महसूस किए गए। हालांकि, देश में सुनामी की कोई चेतावनी जारी नहीं की गई है। अमेरिकी भूगर्भ सर्वेक्षण ने बताया कि शनिवार को  स्थानीय समयानुसार अपराह्न दो बजे आए भूकंप की तीव्रता 6.0 मापी गई। इसका केंद्र पूर्वी जावा प्रांत के मलंग जिले के सुम्बरपुकंग शहर से 45 किलोमीटर दक्षिण में 82 किलोमीटर की गहराई में स्थित था। गौरतलब है कि गत जनवरी में पश्चिम सुलावेसी प्रांत स्थित मामुजू और माजिनी जिलों में आये 6.2 तीव्रता के भूकंप में कम से कम 105 लोगों की मौत हो गई थी और लगभग 6,500 अन्य लोग घायल हो गए थे। इसके चलते 92,000 से अधिक लोग विस्थापित हुए थे। 

इंडोनेशिया के भूकंप और सुनामी केंद्र के प्रमुख रहमत त्रियोनो ने कहा कि भूकंप का केंद्र समुद्र के भीतर स्थित था, लेकिन भूकंप के झटके में सुनामी उत्पन्न करने की क्षमता नहीं थी। इसके बावजूद लोगों से मिट्टी या चट्टानों के ऐसे ढलानों से दूर रहने को कहा गया है,जहां भूस्खलन का खतरा हो। इंडोनेशिया की खोज और बचाव एजेंसी ने मलंग के पड़ोसी शहर ब्लीतर स्थित एक अस्पताल की क्षतिग्रस्त छत सहित क्षतिग्रस्त कुछ घरों और इमारतों के वीडियो और तस्वीरें जारी किया है।