जकार्ता, एजेंसी। Indonesia Mount Semeru: इंडोनेशिया (Indonesia) का सबसे उंचा ज्वालामुखी माउंट सेमेरू (Mount Semeru) 4 दिसंबर 2022 को अचानक से फट गया। ज्वालामुखी के फटने से लावा की नदी थमने का नाम ही नहीं ले रही है। आसपास के इलाकों में गर्म राख और गैस के बादल छा गए हैं।

बारिश के बाद एक्टिव हुआ ज्वालामुखी

बता दें कि माउंट सेमेरू कई दिनों से धीरे-धीरे सुलग रहा था। लेकिन बारिश के कारण उसका लावा डोम टूट गया जिसके कारण ज्वालामुखी और भी सक्रिय हो गया। राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन एजेंसी के प्रवक्ता अब्दुल मुहारी ने कहा कि बारिश के बाद से ज्वालामुखी और भी ज्यादा सक्रिय हो गया और तभी से गर्म राख, गैस और लावा की नदियां तेजी से बहती ही जा रही है। बता दें कि ज्वालामुखी से निकलने वाली राख से कई गांव तक ढक गए हैं। अब तक किसी की मौत की सूचना नहीं है। सैकड़ों निवासी सुरक्षित स्थान पर पहले ही चले गए हैं।

6 गांव राख की चपेट में

राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन एजेंसी के प्रवक्ता अब्दुल मुहारी ने कहा कि ज्वालामुखी के फटने से 6 गांव राख की चपेट में आ गए हैं। धुंए और राख की वजह से आसमान पूरा काला हो गया हैं और दिन में भी लोगों को लाइट जलाकर रहने पर मजबूर होना पड़ रहा है। राहत एवं बचाव कार्य जारी है। बता दें कि माउंट सेमेरू ज्वालामुखी इससे पहले भी कई बार सक्रिय हो चुका है। माउंट सेमेरू दक्षिणपूर्व स्थित जावा में है। यहां ऐसी कई ज्वालामुखी हैं जो कई सालों से एक्टिव हैं। लेकिन इनमें से माउंट सेमेरू सबसे खतरनाक और ऊंचा ज्वालामुखी है जो इस वक्त आग की लपटों से धधक रहा है।

Mosque Attack In Nigeria: नाइजीरिया के मस्जिद में बंदूकधारियों ने की गोलीबारी,12 की मौत; कई लोगों को किया अगवा

केवल इंडोनेशिया में 121 ज्वालामुखी

जानकारी के लिए बता दें कि केवल इंडोनेशिया में 121 एक्टिव ज्वालामुखी मौजूद हैं। पिछले साल माउंट सेमेरू में विस्फोट हुआ था जिसमें 51 लोगों की मौत दर्ज की गई थी। वहीं 10 हजार लोगों को अपना घर छोड़कर दूसरी जगह पर रहना पड़ा था। इस साल के माउंट सेमेरू में हुए विस्फोट से राख, गैस और लावा काफी निकल रही है और बहते हुए 8 किलोमीटर तक नीचे आ गई है। स्थानीय निवासियों को 20 किलोमीटर दूर स्थित स्कूल में शरण दी गई है। यहां सरकार ने लोगों के खाने-पीने से लेकर मेडिकल इमरेजेंसी के भी सारे इंतजाम कर दिए गए हैं।

डेंजर जोन में 3 हजार मकान

ज्वालामुखी के डेंजर जोन में इस समय 3 हजार मकान हैं। माउंट सेमेरू के विस्फोट के बाद से राख और धुंआ पांच हजार फीट की ऊंचाई तक आसमानों में फैल गया है। धरती पर 1500 एक्टिव ज्वालामुखी में सबसे ज्यादा खतरनाक और एक्टिव ज्वालामुखी इंडोनेशिया में ही है। पिछले साल से कई ज्वालामुखी एक्टिव है और लगातार विस्फोट हो रहा है।

China Coronavirus Cases: चीन में उरुमकी समेत कुछ और शहरों में ढील, आज से फिर खुल जाएंगे माल और बाजार

Iran: इजरायली खुफिया एजेंसी के लिए जासूसी करने के आरोप में ईरान ने चार को दी फांसी

Edited By: Nidhi Avinash

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट