कोलंबो (पीटीआई)। श्रीलंका में हाल में हुए मुस्लिम विरोधी दंगों के आरोपी कट्टर सिन्हाला-बौद्ध ग्रुप ने अब राजनीति में उतरने का निर्णय लिया है। यह ग्रुप एक नई राजनैतिक पार्टी का गठन करेगा, जिसके पंजीकरण के लिए उसने आवेदन कर दिया है। श्रीलंका में हुए मुस्लिम विरोधी दंगों के दौरान महासन बालाक्या या डेविल महासोना के दल पर आरोप लगा था कि इन्होंने हिंसा भड़काने के लिए भड़काऊ भाषण दिए थे।  

अनुराधापुरा में इस समूह के एक प्रवक्ता ने बताया, 'हमने महासन बालाक्या और कई अन्य सिन्हाला संगठनों के साथ मिलकर एक नए राजनैतिक दल का गठन करने का निर्णय लिया है।' महासन बालाक्या पर मुस्लिम विरोधी दंगों में शामिल होने का आरोप है, इसके अलावा उन पर दंगों के दौरान मुस्लिमों के धार्मिक स्थलों और संपत्ति को नुकसान पहुंचाने का भी आरोप है। 

 आपको बता दें कि इसी महीने की शुरुआत में कैंडी जिले में बौद्ध और मुस्लिम समुदाय के बीच सांप्रदायिक दंगे भड़क गए थे, जिसमें तीन लोगों की मौत हो गई थी। वहीं 20 अन्‍य घायल हो गए थे और सैकड़ों की संख्‍या में दुकानों, घरों, मंदिरों को क्षतिग्रस्‍त या आग के हवाले कर दिया गया था। हिंसा को लेकर लगभग 300 लोगों को गिरफ्तार भी किया गया था। दंगों के दौरान वरिष्ठ नेता महासन बालाक्या को भी गिरफ्तार कर लिया गया था।इसके बाद श्रीलंका की सरकार ने छह मार्च को आपातकाल लागू करने के साथ फेसबुक, वाट्सएप और सोशल मीडिया अन्य माध्यमों के इस्तेमाल पर रोक लगा दी थी। 

 

Posted By: Kishor Joshi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस