नई दिल्ली, एजेंसी। जर्मनी की विदेश मंत्री अन्नालेना बेयरबॉक (German Foreign Minister Annalena Baerbock) दो दिवसीय यात्रा के पर भारत पहुंची हैं। विदेश मंत्री अन्नालेना बेयरबॉक ने दिल्ली में गांधी स्मृति में महात्मा गांधी को पुष्पांजलि अर्पित की। दिल्ली में विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर ने जर्मन विदेश मंत्री अन्नालेना बेयरबॉक के साथ व्यापक प्रवासन और गतिशीलता साझेदारी के समझौते पर हस्ताक्षर किए।

इस मौके पर विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर ने कहा, हमारी रणनीतिक साझेदारी जो दो दशकों से अधिक पुरानी है, वो वास्तव में अधिक राजनीतिक आदान-प्रदान, निरंतर बढ़ते व्यापार, अधिक निवेश से मजबूत हुई है है। विदेश मंत्री जयशंकर ने आगे कहा आज हमने अपने द्विपक्षीय संबंधों के अलावा दिन के प्रमुख अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर विचारों का आदान-प्रदान किया। इसमें यूक्रेन में संघर्ष, हिंद-प्रशांत सामरिक स्थिति शामिल रही।

मैंने गांधी स्मृति से भारत की अपनी यात्रा शुरू की-  विदेश मंत्री बेयरबॉक

वहीं जर्मन विदेश मंत्री अन्नालेना बेयरबॉक ने इस मौके पर कहा, मैंने गांधी स्मृति से भारत की अपनी यात्रा शुरू की। जब मैंने आज गांधी के अंतिम कदमों का अनुसरण किया तो मुझे पूरी तरह से पता चला कि भारत की स्वतंत्रता की राह वास्तव में आसान नहीं थी।

विदेश मंत्री डॉ एस. जयशंकर ने ट्वीट कर उनका स्वागत किया है। विदेश मंत्री जयशंकर ने ट्वीट कर लिखा 'भारत में आपका स्वागत है।'

विदेश मंत्री अन्नालेना बेयरबॉक अपनी दो दिवसीय भारत यात्रा के दौरान विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर के साथ यूक्रेन के खिलाफ रूसी युद्ध और उसके परिणामों के अलावा चीन के साथ भारत के संबंधों पर चर्चा की।

भारत पहुंचने से पहले जर्मनी की विदेश मंत्री अन्नालेना बेयरबॉक ने कहा था, 'भारत की यात्रा करना दुनिया के छठे हिस्से की यात्रा करने जैसा है। मैं दिल्ली में गतिशीलता समझौते पर हस्ताक्षर करूंगी, जिससे लोगों को एक दूसरे के देश में अध्ययन, शोध, काम करने में आसानी होगी। हम रणनीतिक साझेदारी से परे भारत के साथ आर्थिक, सुरक्षा नीति सहयोग को भी मजबूत करना चाहते हैं यह शब्द केवल खोखली बातें नहीं है।'

कई मुद्दों पर हुई चर्चा

बर्लिन स्थित जर्मनी के संघीय कार्यालय के अनुसार बेयरबॉक के पहले भारत दौरे पर तेल, कोयला और गैस से इतर ईंधन के लेन-देन के सहयोग पर चर्चा हुई। बेयरबॉक ने समकक्ष जयशंकर के साथ बातचीत में रूस-यूक्रेन युद्ध और उसके परिणामों पर चर्चा के अलावा चीन के साथ भारत के संबंधों पर भी बातचीत की।

भारतीय निर्वाचन आयोग के जाएंगी कार्यालय 

जर्मनी की विदेश मंत्री भारतीय निर्वाचन आयोग के कार्यालय भी जाएंगी। वह महिला अधिकारों को लेकर सिविल सोसाइटी के प्रतिनिधियों और गैर सरकारी संगठनों के लोगों से भी मुलाकात करेंगीं।

यह भी पढ़ें- Mosque Attack In Nigeria: नाइजीरिया के मस्जिद में बंदूकधारियों ने की गोलीबारी,12 की मौत; कई लोगों को किया अगवा

यह भी पढ़ें- इंडोनेशिया के माउंट सेमेरू ज्वालामुखी में भयानक विस्फोट, चारों तरफ छाया धुआं ही धुआं, देखिए वीडियो

Edited By: Babli Kumari

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट