पेरिस, एएनआइ।  फ्रांस में कोविड-19 की पाचवीं लहर के मद्देनजर सोमवार को फैसला लिया गया है कि यहां के सभी नाइटक्लब चार सप्ताह के लिए बंद करा दिए जाएंगे। आने वाले वीकेंड (शुक्रवार) से यह फैसला लागू हो जाएगा।

फ्रांस के प्रधानमंत्री जीन कास्टेक्स (Jean Castex ) ने आज यह एलान किया। उन्होंने कहा,'हमने इस वीकेंड से चार सप्ताह के लिए नाइट क्लबों को बंद करने का फैसला ले लिया है। यह जनवरी के शुरुआत तक लागू रहेगा। हम यह फैसला लागू कर रहे हैं क्योंकि वैक्सीन लेने के बावजूद वायरस युवाओं के बीच अधिक तेजी से फैल रहा है।

उल्लेखनीय है कि यहां 16 महीनों के बाद इसी साल जुलाई में यहां के सभी नाइट क्लबों को खोला गया था। मार्च 2020 में लाकडाउन लगाए जाने के बाद से कोविड-19 संक्रमण के कारण नाइट क्लबों पर प्रतिबंध लागू था। इन नाइट क्लबों को फिर से खोलना फ्रांस में महामारी प्रतिबंध हटाने की प्रक्रिया का अंतिम चरण था। यह कदम वायरस पर जीत को चिह्नित करने के लिए था।

कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रोन दुनिया के कई देशों में फैल चुका है। फ्रांस में भी इसके मामले सामने आ चुके हैं। ऐसे में शीर्ष वैज्ञानिकों का मानना है कि जनवरी 2022 के अंत तक पूरा फ्रांस कोरोना वायरस के नए वैरिएंट के कारण संकट से घिर सकता है। वहीं पहला केस आते ही फ्रांस और अमेरिका की सरकारों ने दुनिया भर के देशों के लिए प्रतिबंध कड़े कर दिए हैं।

दिसंबर की शुरुआत में ही फ्रांसीसी सरकार के सलाहकार जीन-फ्रेंकोइस डेल्फ़्रैसी ने बीएफएम टेलीविजन को बताया था कि अभी तक के लिए देश का सच्चा दुश्मन घातक कोरोना वायरस का डेल्टा वैरिएंट था जिसकी वजह से देश पांचवी लहर का सामना कर रहा है। उन्होंने कहा कि हमें ओमिक्रोन वैरिएंट पर नजर रखना चाहिए, जो संभवत: जनवरी के अंत तक डेल्टा से आगे निकल सकता है।

Edited By: Monika Minal