पेरिस, एएफपी। फ्रांस सरकार ने कहा है कि पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद के राफेल करार पर बयान से उपजे विवाद के बाद उसे भारत के साथ संबंध खराब होने का डर है। फ्रांस के जूनियर विदेश मंत्री जीन-बैप्टिस्ट लेमोने ने रविवार को कहा कि इस बयान से किसी को फायदा होने वाला नहीं है। फ्रांस को तो एकदम नहीं।

'रेडियो जे' को दिए साक्षात्कार में लेमोने ने कहा कि हालांकि अब ओलांद अपने पद पर नहीं हैं। लेकिन, इसके बावजूद उनके बयान से भारत जैसे रणनीतिक साझीदार के साथ संबंध खराब होने को किसी तरह से उचित नहीं कहा जा सकता है।

Image result for France's junior Foreign Minister

फ्रांस में यह भी कहा जा रहा है कि ओलांद ने यह बयान हितों के टकराव मामले में अपने बचाव में दिया है, क्योंकि उनकी गर्लफ्रेंड जूली गाएत की फिल्म में रिलायंस समूह ने पैसा लगाया था। उनके बयान के बाद विपक्ष मोदी सरकार पर हमलावर हो गया है।

जीतेगा भारत हारेगा कोरोन

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस