काबुल, आइएएनएस। अफगानिस्तान के नूरिस्तान प्रांत के कामदेश जिले में आई बाढ़ में कम से कम 40 लोगों की मौत हो गई। अचानक आई बाढ़ में कई अन्य लापता भी हो गए। कामदेश जिले के मिर्देश गांव में गुरुवार को भारी बारिश के कारण आई बाढ़ ने कई ग्रामीणों को अपनी चपेट में ले लिया। प्रारंभिक जानकारी से पता चला है कि स्थानीय ग्रामीणों के 40 शव मिले हैं, जबकि कई अन्य अभी भी लापता बताए जा रहे हैं। 

अधिकारियों ने कहा कि गांव के लगभग सभी घर बाढ़ से प्रभावित हुए हैं। उन्होंने कहा कि गांव में पानी भर गया है। बाढ़ ने मवेशियों, कृषि भूमि को नष्ट कर दिया है। जानकारी के अनुसार पाकिस्तान की सीमा से लगे कामदेश जिले में एक सड़क के एक बड़ा हिस्सा पूरी तरह से ध्वस्त हो गया, जिसके परिणामस्वरूप इसे बंद कर दिया गया।

आपदा प्रबंधन राज्य मंत्री के कार्यालय ने कहा कि क्षेत्र में खोज और बचाव अभियान नहीं चलाया जा सका क्योंकि यह जिला तालिबान के नियंत्रण में है।

इस बीच प्रांतीय गवर्नर के प्रवक्ता मोहम्मद सैयद मोहम्मद ने कहा कि नूरिस्तान एक पहाड़ी क्षेत्र है और प्रांत के बड़े हिस्से पर तालिबान का कब्जा है। मोहम्मद ने कहा कि बाढ़ की वजह से हजारों परिवारों को पड़ोसी कुनार क्षेत्र में पनाह लेनी पड़ी है।

उन्होंने कहा कि नूरिस्तान सरकार ने तालिबान से अपील की है कि वे बचाव दलों को अपने क्षेत्र में जाने की इजाजत दे। तालिबान का करीब करीब आधे अफगानिस्तान पर कब्जा है। अमेरिका और नाटो सैनिकों की वापसी के ऐलान के बाद, तालिबान ने दर्जनों जिलों पर कब्जा कर लिया है।