ब्रसेल्स, एपी। रूस व यूक्रेन में जारी युद्ध के बीच यूरोपीय आयोग की अध्यक्ष उर्सुला वोन डेर लेयेन ने बुधवार को कहा कि यूरोपीय संघ (EU) को रूस से मिलने वाली गैस की आपूर्ति पूरी तरह बंद होने के लिए तैयार रहना चाहिए।

ईयू ने पहले से रूस पर ऊर्जा आपूर्ति समेत कई प्रतिबंध लगाए हैं। साथ ही वह क्रेमलिन नियंत्रित वस्तुओं की आपूर्ति से खुद को दूर कर रहा है। वोन डेर लेयेन ने कहा कि संगठन के सभी 27 सदस्य देशों को रूस से झटके के लिए तैयार रहना चाहिए।

पूरी तरह बंद हो सकती है रूस से मिलने वाली गैस की आपूर्ति

उन्होंने फ्रांस के स्ट्रासबर्ग में ईयू विधायिका में कहा, 'हमें गैस की आपूर्ति रुकने की तैयारी अभी करनी चाहिए। रूस से मिलने वाली गैस की आपूर्ति पूरी तरह बंद हो सकती है।' उन्होंने कहा कि यूक्रेन युद्ध को लेकर रूस के साथ राजनीतिक तनातनी के कारण दर्जनभर सदस्य देशों में रूसी तेल अथवा गैस की आपूर्ति पहले से ही बाधित है।

रूस ने जापान को फटकारा

रायटर के अनुसार, रूस ने जापान पर रुखा रवैया अपनाने का आरोप लगाते हुए उसे फटकार लगाई और कहा कि इसने आर्थिक व ऊर्जा संबंधों के विकास में खलल पैदा की है। यूक्रेन पर रूसी हमले के खिलाफ जापान पश्चिमी देशों के साथ हो चुका है। क्रेमलिन के प्रवक्ता दमित्री पेस्कोव ने कहा, 'हमने जापानी प्रधानमंत्री के प्रतिनिधि को अवगत करा दिया है कि इस स्थिति में आर्थिक व ऊर्जा संबंध आगे नहीं बढ़ पाएंगे।'

रूस ने डोनेस्क के आवासीय क्षेत्रों पर तेज किए हमले : यूक्रेन

वहीं, दूसरी ओर यूक्रेन ने दावा किया है कि रूस ने डोनेस्क प्रांत के शहरों व गांवों पर हमले तेज कर दिए हैं। इसके कारण आम नागरिकों को जानमाल का भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है। दक्षिण-पूर्वी यूक्रेन में 24 घंटे के भीतर रूसी बमबारी के कारण कम से कम सात लोगों की मौत हो गई, जबकि 25 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं। हालांकि, रूस का कहना है कि वह आवासीय क्षेत्रों को नुकसान नहीं पहुंचा रहा है।

गवर्नर पावलो किरिलेंको ने प्रांत के मध्य में स्थित अवदिवका में तीन लोगों के मारे जाने की सूचना टेलीग्राम पर साझा करते हुए लिखा, 'हर अपराध की सजा दी जाएगी।' उन्होंने डोनेस्क के 3.50 लाख लोगों से प्रांत को खाली करने का आग्रह करते हुए कहा कि जानमाल की सुरक्षा तथा यूक्रेनी सैनिकों को ल़़डाई का उपयुक्त मैदान प्रदान करने के लिए यह बेहद जरूरी है। डोनेस्क के ज्यादातर लोग रूसी भाषषा बोलते हैं। वह डोनबास का एक हिस्सा है। इसलिए, वहां अनुभवी यूक्रेनी सैनिकों को तैनात किया गया है।

Edited By: Dhyanendra Singh Chauhan