काहिरा (एएफपी)। मिस्र ने रमजान के महीने में गाजा सीमा को खोलने का निर्णय लिया है। मिस्र के राष्ट्रपति अब्देल फतह अल सीसी ने राफा क्रॉसिंग को खोलने का दुर्लभ फैसला किया है, जिससे रमजान के पवित्र महीने में फिलिस्तीनी सीमा पार कर सकें। सीसी ने कल देर रात फेसबुक पर लिखा कि क्रॉसिंग को खोलने का निर्णय फिलीस्तीनी एन्क्लेव में निवासियों के पीड़ा को कम करने के लिए लिया गया।

बता दें कि राफा क्रॉसिंग प्वाइंट मिस्र और गाजा पट्टी के बीच एकमात्र क्रॉसिंग बिंदु है। यह गाजा-मिस्र की सीमा पर स्थित है, जिसे केवल रमजान के महीने में ही खोला जाता है। हाल के वर्षों में मिस्र ने सुरक्षा खतरों का हवाला देते हुए इसे बंद कर दिया था। यह आमतौर पर साल के कुछ दिनों केवल खुला रहता है और इस अवधि को दुर्लभ माना जाता है।

इस सप्ताह की शुरुआत में गाजा सीमा पर इजरायल की गोलीबारी में करीब 60 फिलिस्तीनियों की हत्या कर दी गई थी। इस घटना के बाद सीसी ने ये घोषणा की है। मिस्र के विदेश मंत्रालय द्वारा पीड़ितों को शहीद के रूप में दर्शाया गया।

गाजा सीमा पर गत 30 मार्च से विरोध-प्रदर्शन हो रहा है। तक से लेकर अबतक इराइली गोलीबारी में मरने वालों करीब 114 लोग मारे गए हैं। वहीं, सोमवार को येरुशलम में अमेरिकी दूतावास के स्थानांतरित होने के बाद हालात और बिगड़ते दिखे। मिस्र दोनों इजराइल और गाजा शासकों हमास के साथ संबंध रखता है, जिससे दोनों पक्षों के बीच तनाव को कम करने और एन्क्लेव के करीब दो मिलियन निवासियों पर दबाव कम करने में काहिरा (मिस्र की राजधानी) एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

Posted By: Nancy Bajpai

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस