तेहरान, एजेंसी। ईरान में सुबह हुए विमान हादसे के बाद अब न्यूक्लियर पावर प्लांट के पास भूकंप के झटके महसूस किए गए है। रिक्टर स्कैल पर इसकी तीव्रता 4.9 मापी गई है। यूएसजीएस की रिपोर्टों में कहा गया है कि भारतीय समयानुसार ये भूकंप सुबह 7.50 बजे आया था। भूकंप का केंद्र बोरज़ान था। शुरुआती जानकारी में किसी के हताहत होने की जानकारी नहीं मिली है। 

2 जनवरी को भी आया था भूकंप

इससे पहले 2 जनवरी 2020 को भी ईरान में भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। तब भूकंप की तीव्रता 5.8 मापी गई थी। भूकंप ने पूर्वोत्तर ईरान को हिलाकर रख दिया है। हालांकि, भूकंप में किसी भी तरह का कोई नुकसान नहीं हुआ था। भूकंप का केंद्र सागान शहर के 8 किमी(5 मील) की गहराई पर था।

दिसंबर में भी महसूस किए गए थे झटके

वहीं, पिछले साल 30 दिसंबर 2019 को दक्षिणी ईरान के एक शहर में भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। देश के भूकंप विज्ञान केंद्र ने यह जानकारी दी है। तब मुख्य बंदरगाह शहर बंदर अब्बास से लगभग 40 किलोमीटर दूर काले काजी गांव में भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। 

अधिकतर आते रहते हैं भूकंप

जानकारी के लिए बता दें कि ईरान भूकंपीय रूप से सक्रिय क्षेत्र में स्थित है। अधिकतर यहां शक्तिशाली भूकंप आते रहते हैं। सबसे घातक भूकंप ईरान के इतिहास में 856 ईस्वी में आए थे। उस दौरान करीब  200,000 लोगों की जान चली गई थी। 

ईरान और अमेरिका में बढ़ा तनाव

बुधवार को अमेरिका और ईरान के बीच तनाव और बढ़ गया है। दरअसल, ईरान ने इराक में अमेरिका के दो सैनिक ठिकानों पर दर्जन से ज्यादा मिसाइले दागी हैं। हमले में इरबिल और अल असद इलाके में स्थित एयरबेस को निशाना बयाना गया है। हमले के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि फिलहाल, कितना नुकसान हुआ है उसके बारे में जानकारी इकट्ठा की जा रही है।   

ये भी पढ़ें: Ukrainian Boeing 737: ईरान-अमेरिका तनाव के बीच तेहरान में विमान क्रैश, 170 यात्रियों की मौत

Posted By: Ayushi Tyagi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस