अबूधाबी, रायटर। संयुक्त अरब अमीरात में एक बार फिर यमन के हाउती विद्रोहियों ने अबूधाबी हवाईअड्डे के पास बड़ा हमला किया है। अबूधाबी पुलिस ने जानकारी दी है कि हाउदी विद्रोहियों ने यूएइ के मुसाफ्फा इलाके में ड्रोन से हमला किया। ड्रोन इलाके में तेल के तीन टैंकरों पर गिराया गया। इसके बाद तेल के टैंकरों में जोरदार विस्फोट हुआ। इस विस्फोट की आग अबूधाबी हवाई अड्डे तक पहुंच गई। इस हमले में दो भारतीय और एक पाकिस्तानी नागरिक के मारे जाने की सूचना है, जबकि हमले में छह लोग घायल हुए हैं।

घटना सोमवार सुबह की है। एएफपी न्यूज एजेंसी के हवाले से अबूधाबी पुलिस ने बताया कि ड्रोन से तेल के टैंकरों पर किया गया विस्फोट इतना जोरदार था कि अबूधाबी अंतरराष्ट्री हवाई अड्डे के नए निर्माण स्थल पर भी आग फैल लग गई। हालांकि, हवाईअड्डे पर ज्यादा नुकसान की खबर नहीं है। स्थानीय मीडिया की मानें तो इस हमले की जिम्मेदारी यमन के हाउती विद्रोहियों ने ली है। इससे पहले भी कई बार हमला कर चुके हैं।

अबूधाबी पुलिस ने राज्य समाचार एजेंसी डब्ल्यूएएम पर एक बयान में घटना का पूरा ब्यौरा देते हुए बताया कि तीन ईंधन टैंकरों में तेल फर्म ADNOC की भंडारण सुविधाओं के पास औद्योगिक मुसाफ्फा क्षेत्र में यह विस्फोट हुआ था, और जिसके कारण अबू धाबी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के एक निर्माण स्थल पर आग लग गई थी।

बड़ी घटना को दिया गया अंजाम 

यकीनन यह घटना बड़ी है और खतरनाक है। बयान में घटना के तुरंत बाद कहा गया था कि घटनाओं से कोई नुकसान नहीं हुआ है, लेकिन बाद में तीन लोगों के मारे जाने की खबर सामने आई है। प्रारंभिक जांच में दोनों जगहों पर एक छोटे विमान के कुछ हिस्सों को जो संभवत एक ड्रोन हो सकते हैं उन्हें दिखाया गया है। साथ ही घटना की पूरी जांच सिरे से शुरू कर दी गई है।

आपको बता दें कि यमन के हाउती गुट के सैन्य प्रवक्ता, जो सऊदी अरब के नेतृत्व में और संयुक्त अरब अमीरात सहित एक सैन्य गठबंधन से जूझ रहा है, उसने कहा कि समूह ने 'यूएई में गहरा' एक सैन्य अभियान शुरू किया और आने वाले घंटों में वह विवरण की घोषणा करेगा।

वहीं संयुक्त अरब अमीरात द्वारा समर्थित गठबंधन समर्थक बल हाल में यमन के शबवा और मारिब के ऊर्जा उत्पादक क्षेत्रों में हाउती के खिलाफ लड़ाई में शामिल हुए हैं। 

Edited By: Ashisha Rajput