संयुक्त राष्ट्र, प्रेट्र। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के प्रमुख टेड्रस अधनम घेब्रेसस (Tedros Adhanom Ghebreyesus) ने महामारी कोविड-19 से संघर्ष कर रही दुनिया पर चिंता व्यक्त की है। उन्होंने कोरोना वैक्सीन का हवाला देते हुए कहा कि महामारी के खात्मे के लिए अभी लंबा रास्ता तय करना है। उन्होंने कहा कि वैश्विक स्तर पर कोविड-19 वैक्सीन के 780 मिलियन से अधिक डोज दिए जा चुके हैं लेकिन इस संक्रमण को खत्म करने के लिए लंबा रास्ता तय करना बाकी है। उन्होंने आगे कहा कि इसपर नियंत्रण किया जा सकता है। उनके अनुसार इस महामारी को काबू में करने के लिए स्वास्थ्य संबंधित उपायों को अपनाना होगा। 

WHO डायरेक्टर जनरल ने बताया, 'जनवरी और फरवरी में दुनिया ने लगातार 6 हफ्तों तक संक्रमण के मामलों में कमी रिकॉर्ड की। अब हम लगातार सात हफ्तों से केस में तेजी रिकॉर्ड कर रहे हैं और चौथा हफ्ता है जब मौतों का सिलसिला भी तेजी से बढ़ता जा रहा है। जेनेवा में रिपोर्टरों से बात करते हुए उन्होंने बताया कि वैक्सीन महामारी से बचाव का सशक्त हथियार है लेकिन एकमात्र हथियार नहीं है। उन्होंने कहा, 'शारीरिक दूरी काम करती है, मास्क के साथ हाथों को बार-बार साफ करना भी अहम भूमिका निभाता है। इसके अलावा वेंटिलेशन काम करता है, टेस्टिंग, संपर्क का पता करना, आइसोलेशन, क्वारंटाइन आदि का भी कोरोना से बचाव में अहम स्थान है। ' 

वर्ष 2019 के दिसंबर में चीन के वुहान शहर से निकले कोरोना वायरस ने  दुनिया भर के 136,500,400 से अधिक लोगों को संक्रमित कर दिया है और 2,944,500 से अधिक लोगों की इस संक्रमण के कारण मौत हो गई। हाल में ही WHO की मुख्य वैज्ञानिक डॉ. सौम्या स्वामीनाथन ने लॉकडाउन को लेकर बताया कि इसके नतीजे भयानक हो सकते हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक स्वामीनाथन ने कहा कि पर्याप्त लोगों की वैक्सीन लगाए जाने तक हमें डटकर कोरोना वायरस की दूसरी लहर का सामना करना होगा।

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप