वेलिंग्टन, एएफपी।  Christchurch Shooting क्राइस्टचर्च मस्जिद में 51 की गोली मारकर हत्या करने के आरोपी पर पहली बार आतंकवाद का आरोप लगाया गया है। 15 मार्च को न्यूजिलैंड को हिलाकर रख देने वाले हमले को अंजाम देने वाले शख्स ब्रेंटन टैरंट पर आतंक के आरोप के अलावा 51 लोगों की हत्या करने और 40 लोगों की हत्या का प्रयास करने का भी आरोप लगा है।

न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न ने मस्जिद में हुए हमले को सुनियोजित आतंकवादी हमला करार दिया था। पुलिस ने बताया कि अब तक आरोपी के खिलाफ कम आरोप थे। हमले के दो महीने से अधिक समय तक अभियोजन पक्ष और सरकारी कानूनी विशेषज्ञों के परामर्श के बाद आतंकी आरोप तय करने का फैसला किया गया।

28 वर्षीय ऑस्ट्रेलियाई नागरिक ब्रेंटन टैरंट को फिलहाल एक उच्च-सुरक्षा जेल में रखा गया है, जहां, उसकी जांच की जा रही है कि क्या वह आधुनिक न्यूजीलैंड के इतिहास में सबसे बड़े नरसंहार के मुकदमे का सामना करेन के लिए मानसिक रूप से फिट है। अब अदालत में आरोपी की पेशी 14 जून को होनी है।

पुलिस ने बताया कि उन्होंने आरोपों को समझाने के लिए मंगलवार को पीड़ित लोगों और उनके परिवारों से मुलाकात की। पुलिस ने कहा कि पीड़ितों के परिवारों और हमले के बचे लोगों के लिए अदालत की प्रक्रिया भावनात्मक और चुनौतीपूर्ण होगी, इसके लिए हम सभी आवश्यक सहायता प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Manish Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप