थिंपू, प्रेट्र। भारत की पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज की स्मृति में भूटान नरेश जिग्मे खेसर नामग्याल वांगचुक ने यहां स्थित एक मठ में विशेष प्रार्थना की और उनकी तस्वीर के सामने घी के एक हजार दीपक जलाए। सात अगस्त की रात को सुषमा का दिल्ली में निधन हो गया था।

बता दें कि भूटान नरेश ने सुषमा के विदेश मंत्री रहते हुए परिवार के साथ भारत की यात्रा की थी। इस दौरान भूटान के नन्हें राजकुमार के साथ सुषमा की कुछ तस्वीरें भी सोशल मीडिया पर वायरल हुई थीं।

भूटान नरेश के आदेश पर गुरुवार को सिम्टोखा जोंग में विशेष प्रार्थना की गई। नरेश ने दिवंगत मंत्री के परिवार और भारत सरकार को भी शोक संदेश भेजा। एक शोक संदेश में प्रधानमंत्री लोटे शेरिंग ने कहा, 'सुषमा स्वराज का निधन न केवल भारतीय जनता पार्टी के लिए, बल्कि पूरे देश के लिए एक बहुत बड़ी क्षति है।'

उन्होंने कहा, वह भूटान की बहुत अच्छी दोस्त थीं और दोनों देशों के संबंधों को मजबूत बनाने में अथक प्रयास किया। उन्होंने कहा, साल 2014 से 2019 तक भारत की विदेश मंत्री रहीं सुषमा स्वराज ने भूटान के साथ मिलकर काम किया।

शेरिंग के मुताबिक, संपूर्ण भूटान सुषमा स्वराज के असामयिक निधन पर शोक व्यक्त करता है। मुझे पिछले साल भारत यात्रा के दौरान उनसे मिलने का मौका मिला था। भूटान और भारत के संबंधों को मजबूत करने में उनके नेतृत्व को हम हमेशा याद रखेंगे। बता दें कि भूटान के पूर्व प्रधानमंत्री शेरिंग तोबगा सुषमा स्वराज के अंतिम संस्कार में शामिल होने भारत आए थे।

यूएन में 50 देशों के राजनयिकों ने दी सुषमा को श्रद्धांजलि
संयुक्त राष्ट्र में दुनिया भर के लगभग 50 देशों के राजनयिकों ने पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को अलग-अलग संदेश लिखकर श्रद्धांजलि अर्पित की। संयुक्त राष्ट्र में भारत के राजदूत और स्थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दीन ने शनिवार को ट्विटर पर एक वीडियो पोस्ट किया। इसमें स्वराज के लिए लिखे गए इन संदेशों में से कुछ को दिखाया गया है। स्वराज को श्रद्धांजलि देने वाले देशों में जर्मनी, इटली, घाना, क्यूबा, अफगानिस्तान, ऑस्ट्रेलिया, बांग्लादेश, नेपाल, रूस, संयुक्त अरब अमीरात, मालदीव, न्यूजीलैंड और अन्य देश शामिल रहे। 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Bhupendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप