मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

ढाका, एएनआइ। जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के भारत सरकार के फैसले का बांग्लादेश ने समर्थन किया है। बांग्लादेश के विदेश मंत्रालय की ओर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के फैसले पर कहा गया कि, अनुच्छेद 370 को हटाए जाना भारत का आंतरिक मामला है। बांग्लादेश ने साथ ही कहा कि उसने हमेशा सिद्धांत की बात की वकालत की है।ऐसे में क्षेत्रीय शांति और स्थिरता को बनाए रखना और विकास सभी देशों के लिए प्राथमिकता होनी चाहिए।

यह बयान पाकिस्तान के लिए एक और झटका है, जो संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद, साथ ही अमेरिका, रूस और फ्रांस सहित कई देशों द्वारा स्नूब किए जाने के बावजूद कश्मीर मुद्दे का अंतर्राष्ट्रीयकरण करने के लिए निरंतर प्रयास कर रहा है।बांग्लादेश के विदेश मंत्रालय का बयान विदेश मंत्री एस जयशंकर द्वारा ढाका में देश की प्रधानमंत्री शेख हसीना से मुलाकात के एक दिन बाद आया है।

कश्मीर मुद्दे पर बोला नेपाल
विदेश मंत्री एस जयशंकर के नेपाल दौरे से पहले वहां के विदेश मंत्री प्रदीप ग्यावली ने कहा है कि कश्मीर मुद्दा बातचीत के जरिए हल किया जाना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि नेपाल क्षेत्रीय शांति और स्थिरता के पक्ष में है।

पहले UN, अब ICJ जाने की तैयारी में PAK
जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के फैसले के खिलाफ पाकिस्तान ने अंतरराष्ट्रीय कोर्ट (ICJ) में अपील करने का फैसला किया है। पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने एक पाकिस्तानी न्यूज चैनल से बातचीत में कहा है कि हमने कश्मीर के मुद्दे को अंतरराष्ट्रीय कोर्ट में ले जाने का फैसला किया है। हमनें यह फैसला सभी कानूनी पक्षों को ध्यान में रखते हुए किया है। 

बता दें, भारत द्वारा कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने को लेकर पाकिस्तान पिछले सप्ताह ही संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद(UNSC) गया था। हालांकि UNSC के सदस्यों ने भारत के पक्ष का समर्थन करते हुए कहा था कि यह द्विपक्षीय मसला है।

Posted By: Shashank Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप