ढाका, एपी : बांग्लादेश सरकार ने सोमवार को म्यांमार के उस दावे को खारिज कर दिया है जिसमें कहा गया था कि पांच सदस्यीय एक रोहिंग्या परिवार म्यांमार लौट आया है। बांग्लादेश के गृहमंत्री असदुज्जमान खान ने कहा, 'म्यांमार का दावा पूरी तरह से झूठ है। वह परिवार कभी बांग्लादेश की जमीन पर नहीं पहुंचा था। म्यांमार का यह कदम कुछ नहीं बस एक तमाशा है। मैं उम्मीद करता हूं कि म्यांमार जल्द से जल्द रोहिंग्या परिवारों को वापस ले लेगा।'

म्यांमार सरकार ने रविवार को कहा था कि बांग्लादेश से पहला रोहिंग्या परिवार लौट आया है। पांच सदस्यीय यह परिवार पश्चिमी रखाइन प्रांत में अपने रिश्तेदारों के पास रह रहा है और सरकार उनकी हर संभव मदद कर रही है। संयुक्त राष्ट्र की तरफ से रोहिंग्या शरणार्थियों के बीच काम कर रहीं आसिफ मुनीर ने भी म्यांमार के इस दावे को दिल जीतने वाला स्टंट बताया है। मुनीर ने कहा, 'वे यह बार-बार कर रहे हैं।

बांग्लादेश सरकार समेत पूरी अंतरराष्ट्रीय बिरादरी को इस तमाशे के लिए म्यांमार सरकार से जवाब मांगना चाहिए। म्यांमार का यह कदम वाकई दुर्भाग्यपूर्ण और अप्रत्याशित है।' पिछले साल अगस्त में रखाइन में सेना चौकियों पर आतंकी हमले के बाद सूबे में रो¨हग्या मुस्लिमों के खिलाफ ¨हसा भड़क उठी थी। इसके बाद करीब सात लाख रोहिंग्या मुस्लिमों ने बांग्लादेश के कॉक्स बाजार क्षेत्र में शरण ली थी।

By Jagran News Network