ढाका, एएनआइ। पूजा पंडालों में हिंसा और मंदिरों में तोड़फोड़ की घटनाओं के बाद बांग्लादेशी सरकार ने दुर्गा पूजा समारोहों में सुरक्षा कड़ी कर दी है। हिंसा करने के आरोप में करीब सौ से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इससे बांग्लादेश के पुलिस प्रशासन और अर्धसैनिक बलों को पूरे बांग्लादेश में सतर्क कर दिया गया है। इसके अलावा, बांग्लादेश के खुलना में एक हिंदू मंदिर में 18 देशी बम बरामद किए गए हैं।

बांग्लादेशी प्रधानमंत्री शेख हसीना ने कहा कि हिंदू मंदिरों पर हमला करने वालों और दुर्गा पूजा पंडालों पर हमला करने वालों को किसी भी कीमत पर नहीं बख्शा जाएगा। ढाका ट्रिब्यून की रिपोर्ट के मुताबिक गुरुवार को बांग्लादेश के शैलेट, बांदरबन, कोक्स बाजार, चिटगांव, चांदपुर और गाजीपुर में दुर्गा पूजा पंडालों पर हमले और हिंसा होने के बाद स्थिति अभी भी विकट बनी हुई है।

सरकार ने देश में हिंदू समुदाय की सुरक्षा का आश्वासन दिया है और कहा कि बार्डर गार्ड बांग्लादेश (बीजीबी) बलों को बांग्लादेश के 22 जिलों में तैनात किया गया है। बीजीबी आपरेशंस के निदेशक ले.कर्नल फैर्जुर रहमान ने कहा कि गृह मंत्रालय के निर्देश पर हिंदू मंदिरों को तहस-नहस करने वाले करीब सौ से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

उन्होंने कहा कि देश में सांप्रदायिक सौहार्द बनाए रखने के सभी प्रयास किए जा रहे हैं। बांग्लादेश के गृह मंत्री असद्दुजमान खान ने कहा कि कुमलिया की घटना में शामिल कई लोगों की पहचान कर ली गई है और इसे भड़काने वाले कुछ संदिग्धों को भी गिरफ्तार किया गया है। इस घटना के तह तक जाने के लिए वह धरपकड़ जारी रखेंगे। पकड़े गए लोगों से पूछताछ जारी है।

उल्लेखनीय है कि सांप्रदायिक हिंसा की यह घटना तब हुई जब इंटरनेट मीडिया पर ननौर दिघी के एक पूजा पंडाल में पवित्र कुरान का अपमान करने का आरोप लगाया गया। हालांकि अभी भी हिंसा की आशंका बनी हुई है चूंकि बांग्लादेश के सुरक्षा बलों को खुलना जिले के एक हिंदू मंदिर के गेट के पास 18 देशी बम मिले हैं। इन जिंदा बमों को शाम साढ़े पांच बजे जब्त किया गया। बाद में इसे रैपिड एक्शन बटालियन ने एक सुरक्षित स्थान पर ले जाकर नष्ट कर दिया।

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने कहा कि हिंदू मंदिरों और दुर्गा पूजा के पंडालों पर किए गए हमलों में शामिल किसी भी व्यक्ति को बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने इस सांप्रदायिक हिंसा के साजिशकर्ताओं को चेतावनी देते हुए कहा कि कुमिला में हुई घटनाओं की जांच हो रही है। उन्होंने दुर्गा पूजा के अवसर पर ढाका स्थित ढाकेश्वरी मंदिर में एक कार्यक्रम में शामिल होते हुए कहा कि कुमिला की घटना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है।

Edited By: Pooja Singh