मेलबर्न, रायटर्स। ऑस्‍ट्रेलिया में फायरफाइटर्स ने शुक्रवार को विमान दुर्घटना में हुए अमेरिकी सहयोगियों की मौत पर एक मिनट का शोक रखा। सुदूर जंगल में लगी आग जहां विमान कार्यरत था वहां दुर्घटना को लेकर जांच शुरू हो गई है। न्‍यू साउथ वेल्‍स के प्रीमियर ने आदेश दिया, ‘जहां C-130 हरक्‍यूलस विमान दुर्घटनाग्रस्‍त हुआ, वहां मारे गए फायर फाइटर्स के सम्‍मान में सभी कार्यालयों के झंडे आधे झुका दिए जाएं।’ 

NSW के रूरल फायर सर्विस कमिश्‍नर शेन फिट्जसिम्‍मोन्‍स (Shane Fitzsimmons) ने कहा, ‘उनके इस योगदान व बलिदान के लिए हम सदैव उनके कर्जदार रहेंगे।’ ऑस्‍ट्रेलिया में सिडनी एयरपोर्ट के पास 32 अमेरिकी व कनाडाई फायर फाइटर्स के लिए विदाई समारोह में फिट्जसिम्‍मोन्‍स ने यह बात कही। उन्‍होंने कहा अभी इस दुर्घटना के पीछे के कारणों के बारे में बताना काफी जल्‍दी होगा।

इस दुर्घटना में मारे गए अमेरिकी फायर फाइटर्स- 44 वर्षीय आयन मैकबेथ (Ian McBeth), 42 वर्षीय पौल हडसन (Paul Hudson) और 43 वर्षीय रिक मोर्गन जूनियर (Rick DeMorgan Jr.) थे। यह जानकारी कनाडाई फर्म कौलसन एविएशन (Coulson Aviation) ने दी। ये तीनों पहले अमेरिकी मिलिट्री के लिए काम करते थे। एविएशन ने कहा, ‘हम बेहतरीन क्रू का सम्‍मान करते हैं जिन्‍होंने खतरनाक हालात में काफी अच्‍छा काम किया और अपने जान तक की परवाह नहीं की।’ बता दें कि इस दुर्घटना के बाद कंपनी ने अपने अन्‍य एयर टैंकर को उतार लिया था लेकिन यह भी कहा था कि जल्‍द ही इन्‍हें अपने काम पर वापस भेज दिया जाएगा।

दुर्घटना का शिकार हुआ विमान मुख्‍य रूप से सैनिकों और उनके साजो-सामान के लिए बनाया गया था। इसमें चार इंजन लगा हुआ है। यह एयरक्राफ्ट जंगलों में लगी आग पर पानी का बौछार कर बुझाने के लिए लगाया गया था। 

 यह भी पढ़ें: Australia bushfire: राहत कार्य में जुटा एयरक्राफ्ट दुर्घटनाग्रस्त, US के 3 फायर फाइटर्स की मौत

Australia Bushfire: बारिश से मिली दमकलकर्मियों को थोड़ी राहत, लेकिन खतरा अभी टला नहीं

 

Posted By: Monika Minal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस