सिडनी, रायटर। ऑस्ट्रेलिया ने बीजिंग में गिरफ्तार किए गए चीनी मूल के ऑस्ट्रेलियाई पत्रकार के साथ हो रहे बर्ताव की सोमवार को आलोचना की और उनके ऊपर चलाए जा रहे केस का ब्योरा मांगा। वहीं चीन का कहना है कि इस पूरे मामले में कानून का पालन किया जा रहा है।

जासूसी के आरोप में पत्रकार को किया गया गिरफ्तार 

चीन के पूर्व राजनयिक और ऑनलाइन पत्रकार व ब्लॉगर यांग हेंगजुन को जासूसी के संदेह में गत अगस्त में औपचारिक रूप से गिरफ्तार किया गया था। इससे पहले सात महीनों तक उन्हें अवैध तरीके से दक्षिणी शहर ग्वांगझू में हिरासत में रखा गया था। पत्रकार की गिरफ्तारी को लेकर आस्‍ट्रेलिया ने आलोचना की है। इसे अभिव्‍यक्ति की आजादी का हनन बताया है। जासूसी में दोषी पाए जाने पर चीन में मृत्युदंड की सजा का प्रावधान है।

पीएम बोले, ऑस्ट्रेलियाई नागरिक का हित हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता

कैनबरा में मीडिया से बातचीत में प्रधानमंत्री स्कॉट मौरिसन ने कहा, ऑस्ट्रेलियाई नागरिक का हित हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है। हम यांग के खिलाफ चलाए जा रहे मामले का विवरण देखना चाहते हैं और यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि वह अपने वकीलों और परिजनों से मिल सकें। विदेश मंत्री मैरिस पैने ने कहा कि ऑस्ट्रेलियाई महावाणिज्य दूतावास के अधिकारी कुछ समय पहले यांग से मिले थे। उन्होंने यांग की जो स्थिति बताई थी वह अस्वीकार्य है।

चीन ने दी प्रतिक्रिया

आस्ट्रेलिया की इस प्रतिक्रिया पर चीन की विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने बीजिंग में कहा कि हमारी अदालतें कानून के मुताबिक काम करती हैं। हम उनके वैध अधिकारों और हितों की पूरी गारंटी देते हैं। यांग स्वस्थ्य हैं और उन्हें किसी तरह की यातना नहीं दी गई है।

 

Posted By: Arun Kumar Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप