सिडनी, रॉयटर्स। ऑस्ट्रेलिया अभी कोरोना वायरस के डेल्टा वैरिएंट के चपेट में है जो काफी संक्रामक है। एक दिन पहले यहां 110 संक्रमित मिले थे जबकि आज यहां 124 नए संक्रमितों की पहचान हुई है। कोरोना वायरस के मामले गुरुवार को एक बार फिर बढ़ गए जबकि यहां हफ्तों से लंबा लॉकडाउन है। यहां कोरोना संक्रमण के मद्देनजर चेतावनी जारी की गई है कि मामलों में बढ़त हो सकती है जिससे देश की अर्थव्यवस्था पर असर होगा। अधिकतर मामले यहां की राजधानी सिडनी (Sydney) में मिले हैं जहां यह लॉकडाउन का चौथा हफ्ता है। विक्टोरिया (Victoria) में दो सप्ताह से लोगों पर घर के भीतर रहने का आदेश लागू है। यहां 26 नए मामले मिले हैं जो पहले 22 थे।

अन्य विकसित अर्थव्यवस्थाओं की तुलना में ऑस्ट्रेलिया ने बेहतरीन तरीके से संक्रमण को नियंत्रित कर रखा है। यहां अब तक कुल 32,200 मामले आए हैं और 915 मौतें हुई हैं। लेकिन यहां वैक्सीनेशन की रफ्तार धीमी है जिसके कारण अब तक मात्र 11 फीसद आबादी को ही खुराकें दी गईं हैं। संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए यहां लाकडाउन और सीमाओं को बंद किया गया है।

2019 के अंत में चीन में कोरोना वायरस संक्रमण का पहला मामला आया था जिसके बाद 2020 आते आते इसने पूरी दुनिया को चपेट में ले लिया। 11 मार्च 2020 को विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इसे महामारी घोषित कर दिया। अब तक इस घातक वायरस के कारण पूरी दुनिया में संक्रमण के मामलों का आंकड़ा 191,923,269 हो चुका है और इससे मरने वालों की संख्या 4,125,810 है। वहीं इससे बचाव के लिए जारी वैक्सीनेशन अभियान के तहत कुल 3,713,022,529 खुराकें दी जा चुकी है। अमेरिका दुनिया का सबसे अधिक संक्रमित देश है। महामारी की शुरुआत से लेकर अब तक यहां के हालात खराब हैं। यहां अब तक 34,223,853 मामले आ चुके हैं वहीं 609,846 संक्रमितों की मौत हो चुकी है। संक्रमण के आंकड़ों में अमेरिका के बाद भारत है जहां कुल 31,216,337 मामले आ चुके हैं। ये आंकड़े अमेरिका की जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी की ओर से जारी किए गए हैं।