एथेंस, एएनआइ। यूनान में अवैध रूप से रहने वाले करीब 30 पाकिस्तानी नागरिकों को क्रेट आइलैंड पर गिरफ्तार कर लिया गया। ये जहां काम करते थे वहां इनके खराब व्यवहार के कारण लोग परेशान थे। एथेंस में पाकिस्तानी दूतावास को मामले में दखल देना पड़ा तब कहीं जाकर इनकी रिहाई हो सकी। अगस्त के अंतिम सप्ताह में पाकिस्तानी शख्स ने वर्कप्लेस पर यूनानी लड़की के साथ छेड़छाड़ की जिसके बाद यहां रह रहे अवैध पाकिस्तानी नागरिकों के खिलाफ कार्रवाई की गई। इस घटना से गुस्साए अनेकों यूनानी लोगों ने क्रेट आइलैंड के टिंपकी स्थित मस्जिद पर हमला किया जिसका इस्तेमाल वहां रहने वाले पाकिस्तानी नागरिक करते थे।

सूत्रों के अनुसार,'क्रेट आइलैंड के टिंपकी (Tympaki) पर 200-300 यूनानी युवाओं ने हमला कर दिया। करीब 25-30 अवैध पाकिस्तानियों को यूनानियों के द्वारा बंधक बना लिया गया। एथेंस में पाकिस्तानी दूतावास के दखल के बाद इन्हें रिहाई मिल सकी।' ग्रीस में पाकिस्तानी समुदाय की अगुवाई करने वाले जावेद असलम एरियन ने इस घटना का जिक्र 'रेसिस्ट' के मामला के तौर पर बताया है।

ग्रीस में पाकिस्तान और अफगानिस्तान से अवैध इमिग्रेशन चिंता का विषय है। ग्रीक सिटी टाइम्स के अनुसार, ग्रीस अधिकारी यहां से 10 हजार से अधिक अवैध प्रवासियों को बाहर निकालना  चाहते हैं। जुलाई में ग्रीस ने पाकिस्तान के अवैध प्रवासियों को यहां से निकालना शुरू किया था। जुलाई के अंत में एथेंस इंटरनेशनल एयरपोर्ट से पाकिस्तानी प्रवासियों को लेकर एक फ्लाइट इस्लामाबाद गई थी।

शरणार्थी शिविरों व इमिग्रेशन के मंत्री नोटिस मितराकिस ने एक बयान में कहा, 'ग्रीस ने सख्त लेकिन स्पष्ट इमिग्रेशन पॉलिसी लागू किया है। सीमा पर सख्त सुरक्षा के बाद मार्च की शुरुआत से ही अवैध प्रवासियों पर हमारी नजर है। एथेंस में पाकिस्तानी दूतावास और यूनानी पुलिस के सहयोग से कल पाकिस्तान के लिए पहली फ्लाइट की सेवा शुरू की गई।'

ग्रीस में 27 फरवरी को पहला संक्रमण का मामला आया था और 16 सितंबर तक यहां कुल 13 हजार 7 सौ 30 संक्रमण के मामले हो गए हैं वहीं देश में अब तक 313 संक्रमितों की मौत हो चुकी है। बता दें कि चीन के वुहान में संक्रमण का पहला मामला सामने आया था।

Posted By: Monika Minal

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस