नई दिल्ली [जेएनएन]। अंटार्कटिका की बर्फ बहुत तेजी से पिघल रही है। हर साल करीब 200 बिलियन टन बर्फ पिघलकर समुद्र में जा रही है, जिससे की तेजी से समुद्र के पानी का स्तर भी बढ़ रहा है। बुधवार को 80 वैज्ञानिरकों की टीम की ओर से सौंपी रिपोर्ट में ये बात सामने आई। 

रिपोर्ट के मुताबिक पिछले एक दशक में बर्फ के पिघलने की रफ्तार करीब तीन गुणा हो गई है। अगर यह बर्फ इसी तेजी से पिघलती रही तो समुद्र का जलस्तर बढ़ने से भयानक किस्म के बदलाव देखने को मिलेंगे। 

Image result for antarctic ice 

वैज्ञानिकों ने विश्व के देशों को आगाह किया है कि अगर इसी तरह से चलता रहा तो पर्यावरण में भी बहुत ही नुकसानदायक बदलाव देखने को मिलेंगे। वैज्ञानिकों के मुताबिक ग्रीन हाउस गैसों का उत्सर्जन कम करने के लिए अगले एक दशक से भी कम का वक्त बचा है। 

अंटार्कटिका ने खो दी है 219 बिलियन टन बर्फ

वैज्ञानिकों ने रिपोर्ट में बताया है कि 2012 से 2017 के बीच अंटार्कटिका में हर साल 219 बिलियन टन बर्फ पिघल गई, जो कि एक दशक पहले 73 बिलियन टन सालाना थी। अब यह करीब तीन गुणा तक बढ़ गई है। 

By Vikas Jangra