इस्तांबुल, एएफपी/रायटर। तुर्की ने गाजा सीमा पर हुई हिंसा पर नाराजगी जताते हुए इजरायल के राजनयिक को देश से चले जाने को कहा है। यरुशलम में अमेरिकी दूतावास खोले जाने के विरोध में सोमवार को गाजा सीमा पर फलस्तीन के हजारों नागरिकों ने उग्र प्रदर्शन किया था। उन्हें खदेड़ने के लिए इजरायल की सेना ने गोलीबारी की थी। इसमें 60 लोग मारे गए थे।

-ट्विटर पर एर्दोगन और नेतन्याहू के बीच हुई जुबानी जंग

तुर्की की सरकारी न्यूज एजेंसी ऐनडोलु के अनुसार, विदेश मंत्रालय ने इजरायल के वाणिज्यदूत को कुछ समय के लिए देश से चले जाने को कहा है। तुर्की तेल अवीव से अपने राजदूत को पहले ही बुला चुका है। जवाब में इजरायल ने भी तुर्की के वाणिज्यदूत को यरुशलम से चले जाने का आदेश दिया है।

गाजा हिंसा को लेकर ट्विटर पर तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तैयप एर्दोगन और इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के बीच जुबानी जंग भी हुई। इसके चलते दोनों देशों के संबंधों को सामान्य करने के लिए 2016 में हुआ समझौता खतरे में पड़ गया है।

ग्वाटेमाला ने भी यरुशलम में खोला दूतावास

अमेरिका के बाद ग्वाटेमाला ने भी यरुशलम में अपना दूतावास खोल दिया है। इसका उद्घाटन बुधवार को किया गया। इस मौके पर नेतन्याहू और ग्वाटेमाला के राष्ट्रपति जिमी मोरालेस मौजूद रहे।

By Bhupendra Singh