ढाका, एजेंसी । बांग्‍लादेश की राजधानी ढाका में एक शख्‍स द्वारा किए गए फेसबुक पोस्‍ट के बाद दक्षिण पश्चिम भोला जिले में हिंसां भड़क गई। प्रदर्शनकारियों की भीड़ को तितर बितर करने के लिए रविवार को पुलिस की गोली से चार की मौत हो गई। इस घटना में 50 प्रदर्शनकारी घायल हैं। पुलिस ने जुलूस को तितर-बितर करने के लिए रबर की गोलियां चलाईं और जब प्रदर्शनकारी हिंसक हो गए उन्‍होंने पुलिस बल पर पथराव शुरू कर दिया। आजिज आकर पुलिस को फायरिंग करनी पड़ी।

रिपोर्ट के मुताबिक एक हिंदू व्‍यक्ति द्वारा कथित रूप से ईशनिंदात्‍मक फेसबुक पोस्‍त की गई। इसके खिलाफ ढाका से 116 किलोमीटर दूर दक्षिण पश्चिम भोला जिले में मुस्लिम तौहीदी जनता के बैनर तले सैकड़ों मुसलमान सड़क पर उतरकर उग्र प्रदर्शन करने लगे। सभी ने पैगंबर मोहम्‍मद के खिलाफ सोशल मीडिया पर लिखने वाले हिंदू व्‍यक्ति पर सख्‍त कार्रवाई की मांग की। पुलिस प्रमुख सरकार मोहम्‍मद कैसर ने कहा कि मृतकों की संख्‍या बढ़ने की आशंका है। कई घायलों की हालत गंभीर बनी हुई है। इसमें कई पुलिसकर्मी भी घायल हैं।  पैरामिलिट्री बॉर्डर गार्ड बांग्लादेश (BGB) की टुकड़ियों को भी इलाके में तैनात किया गया है। 

प्रदर्शनकारियों ने एक युवा हिंदू व्‍यक्ति को फांसी देने का आह्वान किया है। उन्‍होंने कहा कि सोशल मीडिया का यह संदेश उनकी धार्मिक भावनाओं को आहत करता है। प्रदर्शनकारियों का कहना है कि यह कृत्‍य धार्मिक भावनाओं को उकसाता है। वर्ष 2016 में फेसबुक पर इस्‍लाम के सबसे पवित्र स्‍थल के मजाक उड़ाने को लेकर गुस्‍साई भीड़ ने हिंदू मंदिरों को निशाना बनाया था। एक अन्‍य घटना में कुरान की एक तस्‍वीर को लेकर यहां कई बौद्ध मठों को निशाना बनाया गया था। प्रदर्शनकारियों ने कई दुकानों और घरों को आग के हवाले कर दिया था।

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस