काबुल, आइएएनएस। अफगानिस्तान में वर्षो से चल रहे संघर्ष को समाप्त करने के लिए अमेरिका और आतंकी संगठन तालिबान के प्रतिनिधि अगले सप्ताह कतर की राजधानी दोहा में फिर वार्ता करेंगे। दोनों पक्षों में सातवें दौर की इस शांति वार्ता के दौरान एक या दो मुद्दों पर सहमति बनने की संभावना जताई जा रही है।

अफगानिस्तान में अमेरिका के विशेष दूत जालमे खलीलजाद तालिबान के प्रतिनिधियों के साथ अब तक छह बैठकें कर चुके हैं। युद्धविराम, अफगानिस्तान से अमेरिकी सेना की वापसी और वार्ता में अफगान सरकार को भी शामिल किए जाने की शर्ते दोनों पक्षों के बीच समझौते में अड़ंगा बनी हुई हैं।

माना जा रहा है कि अगले हफ्ते होने वाली वार्ता में कुछ शर्तो पर सहमति बनाने के लिए तालिबान को कई सहूलियतें दी जा सकती हैं। वार्ता के लिए दोहा जाने से पहले खलीलजाद ने यहां अफगान सरकार में शीर्ष पदों पर बैठे लोगों से मुलाकात की। मई में हुई पिछली वार्ता के बाद खलीलजाद ने कहा था कि तालिबान के साथ बातचीत की रफ्तार धीमी जरूर है लेकिन उसमें लगातार प्रगति हो रही है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Dhyanendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप